आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण आहार में अंडे को बांटने पर लगे रोक: जैन समाज

Jashpuranagar News - कुनकुरी | प्रदेश की आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण आहार के रूप में बच्चो को अंडा एवं केले बांटने की योजना में अंडे...

Jul 14, 2019, 07:10 AM IST
कुनकुरी | प्रदेश की आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण आहार के रूप में बच्चो को अंडा एवं केले बांटने की योजना में अंडे बांटने में छत्तीसगढ़ जैन समाज ने आपत्ति जताई है। उन्होंने इस विषय में एक पत्र मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भी लिखा है। भारत वर्षीय दिगंबर जैन महासभा के अध्यक्ष गजेन्द्र जैन ने पत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय एवं महिला बाल विकास मंत्रालय की पहल पर छोटे छोटे बच्चो को पोषण आहार उपलब्ध कराने की दृष्टि से आंगनबाड़ी केन्द्रों में योजना के तहत अंडे बांटने पर रोक लगाने की मांग की है। पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ धार्मिक भावना से भरा पुरा प्रदेश है। आंगनबाड़ी केन्द्रों में सभी समुदाय के बच्चे जाते है। इस स्थिति में बच्चों की उम्र अबोधता एवं अल्पज्ञता को ध्यान में रखते हुए विचार किया जाना चाहिए। अंडा एक मांसाहारी खाद्य है। छोटे छोटे बच्चो को स्वयं खाद्य अखाद्य, हित अहित, सेवनीय असेवनीय पदार्थों का प्रत्यक्ष ज्ञान नहीं होने से राज्य शासन एवं पालक अभिभावकों का दायित्व बनता है कि अनजाने में शाकाहारी बच्चो को मांसाहार के रूप में अंडा न दें।



इस प्रकार की व्यवस्था से शाकाहारियों की धार्मिक परंपरा पर कुठाराघात होगा। मध्यप्रदेश सरकार ने भी इस योजना को शुरू की थी किंतु जैन समाज एवं शाकाहारी धर्मावलंबियों के अनुरोध पर तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा इस योजना में अंडा बांटना बंद करा दिया था।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना