जनता जान गई है बीजेपी की बातों में कितनी सच्चाई इसलिए उनकी सभा से गायब हो रही भीड़: चौरसिया

Jashpuranagar News - देश में महंगाई कम करने, बेरोजगार को रोजगार देने, स्मार्ट सिटी बनाने जैसे सैकड़ों वायदे करने के वाली बीजेपी आज पांच...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 02:40 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news the public knows how much truth is in bjp39s talk so the crowd is missing from their meeting chaurasia
देश में महंगाई कम करने, बेरोजगार को रोजगार देने, स्मार्ट सिटी बनाने जैसे सैकड़ों वायदे करने के वाली बीजेपी आज पांच साल तक सत्ता में राज करने के बाद भी न तो युवाओं को रोजगार दिला सकी और ना ही अपने दूसरे किसी वादे को पूरी कर सकी। देश की जनता अब जान गई है कि बीजेपी ने सिर्फ और सिर्फ झूठ बोलकर सत्ता हासिल की है। यही वजह है कि बीजेपी के नेताओं की सभा में अब कुर्सियां खाली रहती है।

यह बातें मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष सूरज चौरसिया ने दुलदुला ब्लॉक के ग्राम टांगरटोली में ग्रामीणों की सभा को संबोधित करते हुए कही। लोकसभा चुनाव को लेकर मजदूर कांग्रेस द्वारा दूर-दराज के गांव में सभा आयोजित की जा रही है। दुलदुला के टांगरटोली में भी सभा हुई।

इस सभा में मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष श्री चौरसिया ने कहा कि पढे लिखे युवाओं को रोजगार के लिये गोवा, हिमाचल, महाराष्ट्र जैसे महानगरों की ओर पलायन करने को मजबूर होना पड़ रहा है। स्किल डवलपमेंट फेल हो चूका है। आम जनता का विश्वास केंद्र की मोदी सरकार से लगातार उठता जा रहा है। जनता फिर से कांग्रेस पार्टी पर विश्वास बढ़ा रही है। आने वाले लोक सभा चुनाव में राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार देश में होगी। इस कार्यक्रम में युवा इंटक के ब्लॉक अध्यक्ष ग्रामीण चारलेस एक्का, ग्रामीण अध्यक्ष अभय खलखो, इंटक के संजय भगत, मनमोहन भगत, अजय यादव, संजय बड़ा, अनिमा नायक, महफूज आलम, बालकिसुन,किसन ताम्रकार, दुलार बड़ा, कोमल टोप्पो, सैहुन टोप्पो, ललिता, देमेथिरिया, संतकुमार, भिनसेन्ट, रामकृपाल भगत, पुष्पा,जयमुनी बाई,सुधराम, अंजना भगत ,दुर्गे राम, नीलिमा,असामी बाई,सुगंती बाई,विजेंद्र भगत,दुलार बड़ा सहित ग्रामवासी उपस्थित थे।

गांव में सभा को संबोधित करते कांग्रेसी नेता।

X
Jashpur News - chhattisgarh news the public knows how much truth is in bjp39s talk so the crowd is missing from their meeting chaurasia
COMMENT