तमता धान उपार्जन केन्द्र में गड़बड़ी, शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं

Jashpuranagar News - तमता धान उपार्जन केन्द्र के प्रबंधक से किसान नाराज हैं। पिछले वर्ष लुड़ेग धान उपार्जन केन्द्र के प्रबंधक जगदीश...

Bhaskar News Network

Apr 16, 2019, 07:16 AM IST
Pathalgaon News - chhattisgarh news tomato paddy accumulation center disturbances no action after complaint
तमता धान उपार्जन केन्द्र के प्रबंधक से किसान नाराज हैं। पिछले वर्ष लुड़ेग धान उपार्जन केन्द्र के प्रबंधक जगदीश यादव ने धान खरीदी के दौरान लगभग दो करोड़ रुपए का शासन को नुकसान पहुंचाया था। इस मामले की जांच होने के बाद अब आरोपी प्रबंधक जेल की सलाखो के पीछे है।

ठीक ऐसे ही आरोप तमता धान उपार्जन केन्द्र का प्रबंधक गोविंद यादव पर लग रहे हैं। पिछले वर्ष उसे कोतबा का भी प्रबंधक बनाया गया था। सेंटर में पड़ोसी राज्य का धान खरीदी के अलावा अनेक बार विवाद की स्थिति निर्मित हुई थी। जिसके बाद इसे वहां से वापस तमता प्रभार पर ही रखा गया। कार्रवाई नहीं होने से किसान व युवा नेताओं ने उसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने प्रबंधक की शिकायत कलेक्टर से की थी पर कार्रवाई नहीं होने पर अब वे आंदोलन करने की बात कह रहे है। सुखरापारा के युवा नेता मोहनीश साहू ने बताया कि खरीफ 2018 में किसानों से धान बेचने के एवज मेें पैसा की मांग करने वाला इस प्रबंधक के खिलाफ किसान सहित युवा नेताओं ने भी मोर्चा खोल दिया है। उन्होंनें बताया कि इस वर्ष केराकछार में धान खरीदी के दौरान लगभग एक दर्जन किसानों ने प्रबंधक की शिकायत की थी। उनका आरोप था कि धान बेचने के लिए तमता प्रबंधक द्वारा किसानों से 1 रुपए प्रति किलों की दर पर रुपयों की मांग की जा रही थी। यह शिकायत जिला तक पहुंची थी, जिसमें प्रशासन द्वारा जांच भी कार्रवाई गई। यहां के खाद्य निरीक्षक द्वारा जांच प्रतिवेदन बना कर उच्च अधिकारी को दिया भी गया। पर आज तक जांच प्रतिवेदन पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं हो सकी है। जिससे क्षेत्र के किसान अब प्रशासनिक कार्रवाई पर सवाल उठाने लगे है।

नजदीकी रिश्तेदारों को पदस्थ करने की परंपरा

ब्लाक के कुछ प्रबंधक अपने कारनामों पर पर्दा डालने के लिए अपने नजदीकी रिश्तेदारों को बगैर सेवा शर्तों के ही पदस्थ कर देते है। युवा नेता मोहनीश साहू ने गोविंद यादव के अधीनस्थ रहने वाले केराकछार उपार्जन केन्द्र में भी उसके करीबी रिश्तेदार को कंप्यूटर आपरेटर बनाए जाने का आरोप लगाया है। इनका कहना था कि सहकारिता सेवा नियम के अन्तर्गत समिति में किसी भी खाली पद के लिए विज्ञापन जारी कर पदों की भर्ती की जानी है,पर उक्त प्रबंधक द्वारा पुराने कम्प्युटर आपरेटर को हटाकर उसकी जगह पर अपने परिचित व्यक्ति को आपरेटर बना दिया गया है।

प्रबंधक के खिलाफ जांच प्रतिवेदन भेजा गया है

किसानों की शिकायत के बाद प्रबंधक के खिलाफ जांचकर प्रतिवेदन खाद्य शाखा जशपुर को प्रेषित कर दिया गया था। आगे की कार्रवाही वहीं से सुनिश्चित होगी। मनीष अग्रवाल, खाद्य निरीक्षक पत्थलगांव

X
Pathalgaon News - chhattisgarh news tomato paddy accumulation center disturbances no action after complaint
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना