--Advertisement--

पवन ने सीईओ, आकांक्षा ने कलेक्टर का देखा काम

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:55 AM IST

Jashpuranagar News - मेरा नाम आकांक्षा गुप्ता है। मैंने पिछले साल दसवीं की परीक्षा 86.5 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण की है। अभी मैं...

पवन ने सीईओ, आकांक्षा ने कलेक्टर का देखा काम
मेरा नाम आकांक्षा गुप्ता है। मैंने पिछले साल दसवीं की परीक्षा 86.5 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण की है। अभी मैं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिमड़ा, विकासखंड बगीचा में कक्षा ग्यारहवीं (गणित) में अध्ययनरत हूं। कलेक्टर डाॅ. प्रियंका शुक्ला को मैंने पहली बार देखा था जब वो मेरे स्कूल आई थीं। तब से ही उनसे मिलने और बातें करने की इच्छा दिल में थी। सच होंगे सपने कार्यक्रम में चयनित होकर आज मुझे अपनी यह इच्छा पूरी करने का मौका मिला।

कलेक्ट्रेट आने के बाद मुझे पता चला कि कलेक्टर को बहुत सारा काम करना पड़ता है। इसके लिए उन्हें खूब पढ़ाई करनी पड़ती है। और जानकारियों से अपडेट रहना पड़ता है। इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने के कारण मुझे मैम के साथ कई विभागों की बैठक में शामिल होने का मौका मिला। सबसे पहले मैं मैम के साथ कृषि विभाग की बैठक में शामिल हुई। इस बैठक में मैंने देखा की कलेक्टर मैम किसानों के हित से संबंधित शासन की योजनाओं के बारे में अधिकारियों से चर्चा कर रही थी। उन्हें इन योजनाओं की जानकारी बहुत अच्छे से थी और तभी वह अधिकारियों को यह समझा पा रही थीं कि अधिक से अधिक किसानों तक योजनाओं का लाभ कैसे पहुंचाया जा सकता हैै। एडवांस लिफ्टिंग, सौर सुजला योजना आदि के बारे में भी चर्चा की गई। मैं सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास, महिला बाल विकास की बैठक में भी मैम के साथ थी। मैंने जशपुर कलेक्टोरेट पूरा घुमा और तब मुझे पता चला कि कई विभागों के असंख्य काम की निगरानी कलेक्टर को करनी पड़ती है। इस दौरान कलेक्टर के पास बहुत से नागरिक भी अपनी समस्याएं लेकर आते हंै। जिन्हें मैम ध्यान से सुनती हैं और निराकरण के लिए कार्यवाही करती है। कलेक्टर मैम ने मुझे समझाया कि हर किसी के साथ अच्छा व्यवहार रखना चाहिए और सभी से सम्मान से बात करनी चाहिए। मैं बारहवीं अच्छे अंकों से उत्तीर्ण कर किसी प्रतिष्ठित काॅलेज से इंजीनियरिंग करने के बाद आईएएस बनना चाहती हूं। इसके लिए मैंने आज से ही पूरी मेहनत करने का प्रण कर लिया है। मैम ने मुझे समझाया है कि जीवन में सफल होने का एक ही मंत्र है- मेहनत, मेहनत और सिर्फ मेहनत और वो भी पूरी ईमानदारी के साथ करने की बात कही।

कलेक्टर के साथ आकांक्षा।

सीईओ के साथ रहे पवन

जशपुर विकासखण्ड के शासकीय बालक उमावि जशपुर के ग्यारहवीं के छात्र पवन सिंह आज पूरे दिन सीईओ जिला पंचायत श्री कुलदीप शर्मा के साथ रहे। 86 प्रतिशत अंकों के साथ दसवीं कक्षा उत्तीर्ण पवन ने बताया कि सीईओ सर ने मुझे परीक्षाओं में अच्छे अंक से उत्तीर्ण होने के टीप्स दिए। कक्षा ग्यारहवीं से ही सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए तैयारी करने के लिए उन्होंने मुझे समझाया और प्रेरित किया। उल्लेखनीय है कि पवन के पिता श्री हेमन्त कुमार सिंह ग्राम पंचायत ईचकेला में साक्षर भारत के प्रेरक है।

X
पवन ने सीईओ, आकांक्षा ने कलेक्टर का देखा काम
Astrology

Recommended

Click to listen..