--Advertisement--

बैंक चपरासी को अफसर समझ जमा-पूंजी दी, फरार

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:50 AM IST

Kanker News - कांकेर| ग्राम पंचायत में रोजगार गारंटी के तहत काम कर बच्चे के शादी के लिए पाई पाई रकम जामा करने वाली महिला के होश उस...

बैंक चपरासी को अफसर समझ जमा-पूंजी दी, फरार
कांकेर| ग्राम पंचायत में रोजगार गारंटी के तहत काम कर बच्चे के शादी के लिए पाई पाई रकम जामा करने वाली महिला के होश उस समय उड़ गए जब उसे बैंक ने रकम जमा नहीं होने की जानकारी दी। अनपढ़ महिला ने रकम जमा करने की पूरी घटना बैंक के उच्चाधिकारियों को दी।

लेकिन वे यह कहते हुए मामला टाल दिए कि वह बैंक का कर्मचारी नहीं है बल्कि कंपनी का प्यून है। महिला ने जांच पड़ताल की तो मालूम हुआ वह फरार है। और गांव में लगने वाले मुर्गा बाजार में रकम दांव पर लगाता था। ग्राम झलियामारी की महिला कौशल्या मंडावी ने बताया उसने मजदूरी कर बच्चे की शादी के लिए 50 हजार रुपए जमा किया था। जिसे शहर के एक निजी बैंक में फिक्स डिपॉजिट कराने अक्टूबर 2016 में पहुंची थी। जहां बैंक के अंदर काउंटर में बैठे युवक ने स्वयं को बैंक का कर्मचारी बताते अपना नाम धनंजय शर्मा बताया। काउंटर में बैठे होने के कारण महिला ने उस पर विश्वास कर लिया। साथ ही उससे फिक्स डिपाजिट के संबंध में चर्चा कर 50 हजार रुपए जमा करा दिया। जिस पर उसने बैंक में महिला का खाता खोल रकम जमा कर एक पर्ची भी दी। एक माह बाद फिक्स डिपाॅजिट का बाॅॅण्ड आने की जानकारी देकर उक्त कर्मी ने महिला को वहां से रवाना कर दिया। एक माह बाद वह महिला का पास बुक लेकर उसके घर पहुंचा और बाॅॅण्ड बाद में आने की जानकारी दी। महिला यही समझती रही कि उसके पैसे बैंक में सुरक्षित है। डेढ़ साल बाद जब अपने खाते से मजदूरी की रकम निकालने बैंक पहुंच तो बाॅॅण्ड की भी जानकारी ली। लेकिन अधिकारियों ने उसके नाम पर फिक्स डिपाॅजिट नहीं होना बताया। महिला ने रकम जमा करने की पूरी घटना बताई। जिसके बाद महिला ने इसकी शिकायत पुलिस में की है। जिसमें उक्त रकम वापस दिलाने की मांग की गई। महिला के साथ पहुंचे उसके भाई लच्छुराम सलाम ने बताया रकम जमा करने के बाद उक्त कर्मचारी धनंजय शर्मा माटवाड़ा मोदी के मुर्गा बाजार में पैसा लगाता था।

पुलिस में शिकायत, लंबे समय से है फरार

बैंककर्मी के खिलाफ पहले भी इसी तरह की शिकायतें सामने आई थी। जिसमें दबाव बनाने पर उसने कुछ ग्राहकों को रकम भी जमा कराया था। लेकिन इसके पूर्व भी एक मामले में उसकी शिकायत पुलिस में की गई थी। जिसके बाद से वह फरार चल रहा है।

X
बैंक चपरासी को अफसर समझ जमा-पूंजी दी, फरार
Astrology

Recommended

Click to listen..