कांकेर

  • Home
  • Chhattisgarh News
  • Kanker News
  • पखांजूर में शिक्षक और छात्राएं मध्याह्न भोजन बनाने में जुटीं, पढ़ाई हो गई ठप
--Advertisement--

पखांजूर में शिक्षक और छात्राएं मध्याह्न भोजन बनाने में जुटीं, पढ़ाई हो गई ठप

मध्याह्न भोजन बनाने वाले रसोइयों की हड़ताल के चलते स्कूलों में मध्यांह भोजन बनाने का काम बुरी तरह प्रभावित हो रहा...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:00 AM IST
मध्याह्न भोजन बनाने वाले रसोइयों की हड़ताल के चलते स्कूलों में मध्यांह भोजन बनाने का काम बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। संघ पदाधिकारी रोज स्कूलों के चक्कर लगा रहे हैं और जहां भी रसोइया खाना बनाते मिलते हैं उन्हें पकड़ धरना स्थल ले आते हैं। रसोइयों की हड़ताल से कुछ स्कूलों में मध्यांह भोजन बनना बंद हो गया है तो कुछ स्कूलों में मध्यांह भोजना शिक्षक तथा छात्राएं मिलकर बना रहे हैं। शिक्षकों तथा छात्राओं के मध्यांह भोजन बनाने में जुट जाने से स्कूलों में पढ़ाई कार्य प्रभावित हो रहा है।

सात सूत्रीय मांगों को लेकर 22 फरवरी से प्रदेश भर में मध्यांह भोजन बनाने वाले रसोइए हड़ताल में चले गए हैं। हड़ताल के हर दिन के साथ स्कूलों में मध्यांह भोजन की व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। अंदरूनी क्षेत्रों की बहुत सी स्कूलों में मध्यांह भोजन बंद हो चुका है। माध्यमिक शाला चांदीपुर में पदस्थ सफाईकर्मी व हाईस्कूल में पदस्थ चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी शिक्षिका और छात्राओं द्वारा मिलकर मध्यांह भोजन बनाया जा रहा है। शाला के प्रभारी प्राचार्य नरेंद्र दीक्षित ने बताया शासन की ओर से निर्धारित दर में कोई ग्रामीण स्कूल में अस्थाई रूप से खाना बनाने का काम करने को तैयार नहीं हो रहे हैं। मजबूरी में छात्रों और शाला में पदस्थ कर्मचारियों खाना बनाने का काम करना पड़ रहा है। रसोइयों के हड़ताल में जाने के बाद शासन की ओर से इनकी जगह अन्य कोई व्यवस्था के संबंध में कोई दिशा निर्देश नहीं दिया गया है।

शिक्षकों ने कहा अगर वे किसी को खाना बनाने रख भी लें और उसका भुगतान नहीं हुआ तो उन्हें अपनी जेब से भुगतान करना पड़ेगा। इधर सफाई कर्मी संघ ने भी बयान जारी कर दिया है की कोई भी सफाईकर्मी स्कूलों में भोजन बनाने का काम नहीं करेगा। शासन की ओर से उन्हें शाला की साफ सफाई के लिए अंशकालीन कर्मचारी के रूप में नियुक्त किया गया है। वे सिर्फ सफाई का ही काम करेंगे।

छत्तीसगढ़ अंशकालीन स्कूल सफाईकर्मी कल्याण संघ विकासखंड कोयलीबेड़ा अध्यक्ष रतन राय, सचिव रविंद्र साहू ने रसोइयों की हड़ताल का संघ पूरा समर्थन करता है। सफाईकर्मी रसोइयों का विकल्प नहीं बनना चाहते। सफाईकर्मी खाना बनाने कार्य नहीं करें। शासन से उनकी नियुक्ति सफाई कार्य करने हुई है चूल्हा फूंकने के लिए नहीं। मध्यांह भोजन रसोइया संघ ब्लाक अध्यक्ष ब्रजवती दर्रो, सचिव शिवानी हालदार ने कहा जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती हड़ताल जारी रहेगी। शासन उनका शोषण बंद करे और उचित मानदेय प्रदान करे।

पखांजूर। रसोइयों के हड़ताल में होने से स्कूल में खाना बनातीं शिक्षक औरा छात्राएं।

रसोइया संघ ने 7 सूत्रीय मांगों को लेकर निकाली रैली

कांकेर|
जिला मुख्यालय में रसोईया संघ ने सात सूत्रीय मांगो को लेकर हड़ताल के सातवें दिन रैली निकाली। दोपहर 12 बजे मिनी स्टेडियम से ऊपर नीचे मार्ग तक रैली निकाली और जमकर नारेबाजी की। रैली में बड़ी संख्या में रसोइयों ने भाग लिया। बड़ी संख्या में महिला रसोईया शामिल थी। रैली के बाद प्रशासन को शासन के नाम 7 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन भी सौंपा गया। रसोईया संघ अध्यक्ष धनेश्वर साहू, सचिव प्रभा निषाद ने कहा जब तक मांगे पूरी नहीं होती हड़ताल जारी रहेगी।

Click to listen..