2.64 करोड़ का खेल परिसर, मैदान में उगी झाड़ियां, पूल में पानी की जगह उड़ रही धूल

Kanker News - शहर से लगे सिंगारभाठ गांव में खेल एवं युवा कल्याण विभाग की ओर से 2.64 करोड़ की लागत से जिला खेल परिसर का निर्माण कराया...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 02:26 AM IST
Kanker News - chhattisgarh news 264 crore sports complex booming bushes in the ground dust flying in the water in the pool
शहर से लगे सिंगारभाठ गांव में खेल एवं युवा कल्याण विभाग की ओर से 2.64 करोड़ की लागत से जिला खेल परिसर का निर्माण कराया गया था, लेकिन यहां खेल आयोजन तक नहीं कराए जा रहे हैं। देखरेख न होने से इसकी स्थिति बहुत दयनीय हो चुकी है। यहां चौकीदार भी नहीं है, इसलिए यह पूरी तरह कंडम हो चुका है। यहां बने हॉकी मैदान की स्थिति तो काफी खराब हो चुकी है। खिलाड़ियों में भी आक्रोश है कि इतना बड़ा खेल परिसर बनाने के बाद उसका उपयोग क्यों नहीं किया जा रहा।

ग्राम सिंगारभाठ में खेल एवं युवा कल्याण विभाग का जिला खेल परिसर 2.64 करोड़ की लागत से वर्ष 2009 में बना था। निर्माण में खामियां होने के कारण लंबे समय तक खेल एवं युवा कल्याण विभाग ने परिसर को हैंडओवर नहीं लिया था। अगस्त 2015 में परिसर को विभाग ने हैंडओवर लिया लेकिन इस दौरान परिसर खाली पड़ा रहा। हैंडओवर लेने के बाद भी विभाग ने यहां खेल आयोजन आदि कराने रुचि नहीं ली। गत वर्ष भी खेल एवं युवा कल्याण विभाग ने ग्रामीण खेलकूद प्रतियोगिता कराई तो सिंगारभाठ के बड़े मैदान के बजाए गोविंदपुर मैदान में करा दी।

स्विमिंग पूल में टाइल्स उखड़ी, सड़कर उखड़ रहे दरवाजे

खेल परिसर स्थित मैदान की देखरेख नहीं होती है, स्वीमिंग पूल की टाइल्स उखड़ गई हैं।

हॉकी मैदान में जमा हो जाता है पानी, जगह-जगह हो गए हैं गड्‌ढे

खेल परिसर में हॉकी मैदान तो बड़ा है लेकिन मैदान की स्थिति अच्छी नहीं है। बारिश का पानी निकासी नहीं होने से पानी मैदान में जमा हो जाता है। मैदान में जगह जगह गड्ढे हो गए हैं और अनुपयोगी घास झाडिय़ां भी उग गई है। हॉकी खेलना तो दूर मैदान में पैदल चलना तक संभव नहीं है। देखरेख के अभाव में स्वीमिंग पुल की परत भी तेजी से उखड़ रही है।

दूसरे मैदानों में कराई जा रहीं प्रतियोगिताएं

रखरखाव के अभाव में यहां रात में असामाजिक तत्व पहुंचते हैं और यहां के सामानों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। शहर में खेल मैदानों की भारी कमी है। खेल विभाग अपने प्राय: आयोजन नरहरदेव मैदान और भारती स्कूल मैदान में अव्यवस्था के बीच कराता है। लेकिन इस जिला खेल परिसर की ओर ध्यान नहीं है।

सूनसान खेल परिसर बनता जा रहा है नशेड़ियों का अड्डा।

खिलाड़ी बोले- ध्यान नहीं दे रहा विभाग

फुटबॉल खेल से जुड़े सतीश यादव, मनीष सिन्हा ने कहा कि खेल परिसर तो काफी बड़ा है लेकिन विभाग द्वारा ध्यान नहीं दिए जाने से कंडम हो चुका है। सिंगारभाट के सरोज नाग ने कहा इतना बड़ा खेल मैदान तो बना दिया गया है लेकिन कभी कभार ही खेल आयोजन हुए हंै। कुछ लोग तोड़फोड़ भी कर रहे हैं।

15 एकड़ में बनाया गया था भव्य परिसर

जिला स्तरीय खेल परिसर 15 एकड़ में बना है। यहां फुटबॉल, हॉकी मैदान के अलावा स्वीमिंग पुल, स्पोटर्स कांप्लेक्स भी है। दर्शकों के लिए गैलरी भी बनी है। परिसर में खिलाड़ियों की सुविधा के लिए महिला व पुरुष वर्ग के लिए अलग-अलग शौचालय- स्नानागार बने हंै। इन सबके बावजूद यहां आयोजन नहीं होने से खेल परिसर कंडम होता जा रहा है।

देखभाल के लिए चौकीदार तक नहीं

इतने बड़े खेल परिसर की देखभाल के लिए विभाग ने चौकीदार तक की व्यवस्था नहीं की है। एक तरफ का गेट भी खुला हुआ है जहां से लोग आना-जाना करते हंै। शाम ढलते ही परिसर शराबियों का अड्डा बन जाता। असामाजिक तत्व खेल परिसर में लगी सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं। कुछ दरवाजे तो दीमक लगने से खराब हो चुके हैं तो कुछ दरवाजे व खिड़कियों को असमाजिक तत्वों ने तोड़ दिया है। बाथरूम में लगे वॉशबेसिन व नल को तोड़ दिया है। खिड़की के पल्लों और बल्ब को भी नुकसान पहुंचाया है। बाथरूम में गंदगी पसरी हुई है।

परिसर का जायजा लिया जाएगा: प्रभारी

डिप्टी कलेक्टर और खेल एवं युवा कल्याण विभाग प्रभारी यूएस बंदे ने कहा जिला खेल परिसर का निरीक्षण किया जाएगा। वहां ज्यादा से ज्यादा खेल आयोजन हो इसके लिए प्रयास किया जाएगा।

खेल परिसर के दरवाजों का हाल।

X
Kanker News - chhattisgarh news 264 crore sports complex booming bushes in the ground dust flying in the water in the pool
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना