विक्षिप्त गर्भवती भानुप्रतापपुर में भर्ती, सोनोग्रॉफी करने लाएंगे कांकेर

Kanker News - जिले के बांदे में भटकने वाली एक विक्षिप्त महिला गर्भवती हो गई थी जिसे प्रशासन की कोई भी संस्था मदद नहीं कर रही थी।...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:05 AM IST
Kanker News - chhattisgarh news kanker will bring recurrence of sonic pregnancy in bhanupratappur
जिले के बांदे में भटकने वाली एक विक्षिप्त महिला गर्भवती हो गई थी जिसे प्रशासन की कोई भी संस्था मदद नहीं कर रही थी। भास्कर की पहल पर बांदे अस्पताल प्रबंधन ने संवेदना दिखाते उसे अस्पताल लाया और स्वास्थ्य परीक्षण किया जिसमें पता चला उसे 8 माह का गर्भ है। यहां से महिला को हायर सेंटर भानुप्रतापपुर भेजा गया क्योंकि बांदे अस्पताल में महिला डॉक्टर नहीं हैं। भानुप्रतापपुर में महिला का इलाज चल रहा है और उसे सोनोग्राफी के लिए शुक्रवार को कांकेर जिला अस्पताल लाया जाएगा। महिला का पूरा स्वास्थ्य परीक्षण होने के बाद ही तय किया जाएगा कि उसका प्रसव कांकेर जिले के ही किसी अस्पताल में कराया जाए या उसे बिलासपुर मानसिक रोगियों के अस्पताल शिफ्ट किया जाए।

बांदे बाजार में 10 महीने पहले एक अज्ञात विक्षिप्त महिला पहुंची थी जो दिनभर भटकने के बाद शाम को पेड़ या बाजार शेड में आश्रय ले लेती थी। दरिंदों ने इसे भी नहीं छोड़ा और महिला गर्भवती हो गई। महिला की सुध लेने कोई भी समाजसेवी संस्था या प्रशासन सामने नहीं आ रहा था। भास्कर ने पहले मितानिन और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से चर्चा की तो दोनों ने मेरा काम नहीं होने की बात कह पल्ला झाड़ लिया था। बांदे अस्पताल के डॉक्टर ने तत्काल महिला को अस्पताल लाकर स्वास्थ्य परीक्षण किया। यहां महिला डॉक्टर नहीं होने के कारण उसे भानुप्रतापपुर अस्पताल रेफर किया गया। भानुप्रतापपुर में महिला का इलाज कर रहीं डॉ. प्रीति सिंह ने बताया महिला यहां डॉक्टरों और अन्य स्टाफ द्वारा दिए जा रहे निर्देशों का अच्छे से पालन कर रही है। महिला इलाज कराने में सहयोग कर रही है जो अच्छे संकेत हैं। फिलहाल उसकी सोनोग्राफी कराने की जरूरत है ताकि गर्भ में पल रहे बच्चे की स्थिति का पता चल सके। शुक्रवार को पुलिस कस्टडी में महिला को सोनोग्राफी के लिए कांकेर जिला अस्पताल भेजा जाएगा।

जांच के बाद तय होगा कि महिला का प्रसव यहीं के अस्पताल में कराएं या बिलासपुर के अस्पताल भेजें

भानुप्रतापपुर अस्पताल में चल रहा विक्षिप्त महिला का ईलाज।

स्वास्थ्य परीक्षण के बाद लिया जाएगा निर्णय

सीएचएमओ डॉ. जेएल उईके ने बताया महिला का इलाज चल रहा है। पूर्ण स्वास्थ्य परीक्षण के बाद डॉक्टरों की रिपोर्ट के आधार पर तय किया जाएगा कि महिला का इलाज कांकेर के ही किसी अस्पताल में कराया जाए या उसे मानसिक रोगियों के अस्पताल बिलासपुर शिफ्ट किया जाए।

महिला को हरसंभव मदद दी जाएगी: कलेक्टर

कलेक्टर केएल चौहान ने कहा इस तरह के मामलों में महिला एवं बाल विकास विभाग की जिम्मेदारी होती है वे मदद करें। विभाग क्यों मदद नहीं कर रहा है इसकी जानकारी ली जाएगी और विभाग के अफसरों को महिला की मदद करने निर्देश दिए जाएंगे।

X
Kanker News - chhattisgarh news kanker will bring recurrence of sonic pregnancy in bhanupratappur
COMMENT