--Advertisement--

पार्क में बिखरेगी ठेठरी-खुरमी की महक, छत्तीसगढ़ी पकवान होंगे उपलब्ध

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:42 AM IST

Kanker News - छत्तीसगढ़ के पारंपरिक व्यंजन को विलुप्त होने से बचाने के साथ नई पीढ़ी को इससे रूबरू कराने नगर पालिका कांकेर ने योजना...

Kanker News - chhattisgarh news sprinkled in the park rekha khurmi39s smell chhattisgarhi dish will be available
छत्तीसगढ़ के पारंपरिक व्यंजन को विलुप्त होने से बचाने के साथ नई पीढ़ी को इससे रूबरू कराने नगर पालिका कांकेर ने योजना तैयार की है। इसके तहत शहर के ठाकुर विश्राम सिंह पार्क में छत्तीसगढ़ी व्यंजन सेंटर खोला जाएगा। जिले का यह पहला सेंटर होगा जहां विशुद्ध रूप से छत्तीसगढ़ी व्यंजन परोसा जाएगा। नाश्ते में छत्तीगढ़ी व्यंजन का स्वाद लेने के साथ छत्तीसगढ़ी संगीत का भी आनंद ले सकेंगे, वह भी बाजार से कम कीमत पर।

जिले में अन्य राज्य व विदेशों के पकवान होटलों व ठेलों में मिल रहे हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ी पकवान यहां नजर नहीं आते। कुछ गिने चुने पकवान ही ग्रामीण इलाकों के होटलों में देखने को मिलते हैं। छत्तीसगढ़ के पारंपरिक व्यंजनों को सहेजने नगर पालिका ने योजना तैयार की है। इसके तहत ठाकुर विश्राम सिंह पार्क के एक कार्नर पर छत्तीसगढ़ी फूड सेंटर खोला जाएगा। जहां सिर्फ छत्तीसगढ़ी पकवान जैसे चीला, फरा, खुरमी, ठेठरी, बरा आदि परोसा जाएगा। इसके अलावा कुछ पकवान ऑर्डर पर तैयार किए जाएंगे। यहां छत्तीसगढ़ी पकवान बनाने वालों को ही काम पर रखा जाएगा। फूड कॉर्नर को स्वयं नगर पालिका चलाएगी या फिर किसी को ठेके पर देगी, इसे लेकर विचार किया जा रहा है। संभवत: इस कार्य के लिए महिला स्व सहायता समूह को प्राथमिकता दी जाएगी।

ठाकुर विश्राम सिंह पार्क जहां खोला जाएगा छत्तीसगढ़ी फूड कार्नर।

फूड कार्नर को दिया जाएगा ट्रेडिशनल लुक

पार्क के कोने में जो छत्तीसगढ़ी फूड कार्नर खोला जाएगा। उसे आकर्षक बनाने पूरी तरह ट्रेडिशनल लुक दिया जाएगा। घास फूस की झोपड़ी बनाई जाएगी, ताकि उसके नीचे लोग आराम से छत्तीसगढ़ी पकवानों का आनंद ले सकें।

अभी शहर में मिलते हैं साउथ व नार्थ इंडियन डिश

शहर में कुछ जगहों पर नाश्ते ठेले जरूर लगते हैं, जहां छत्तीसगढ़ी पकवान में सिर्फ बड़ा व गुलगुला मिलता है। स्कूल के आसपास छोटे पसरे लगाने वाले ठेठरी बेचते हैं। बाकी सभी जगहों पर समोसा, बड़ा, इडली, डोसा, ढोकला, दाबेली व चाइनीस फूड मिलते हैं।

सफाई का रखा जाएगा पूरा ध्यान, बनाई योजना

पार्क के अंदर फूड कार्नर खोलने से वहां सफाई को लेकर बड़ा सवाल उठ रहा था। पालिका ने सफाई व्यवस्था के लिए पूरा खाका तैयार किया है। पालिका कर्मचारी रोज फूड कार्नर से निकलने वाले कचरे को जमा कर बाहर डंप करेंगे।

ये छत्तीसगढ़ के प्रमुख पकवान मिलेंगे

छत्तीसगढ़ में मुख्य रूप से धान की खेती होती है इसलिए यहां अधिकांश पकवान चावल से ही बनाए जाते हैं। नमकीन में चाकोली, मुरकू, कांकड़ा, तसमई, चौसेला, हंडफोडवा, खपुरी, कथिला, अंगाकार, मोहनभोग, बटकर, बोबरा, इंडहर, देरहोरी, तीखुर, चीला, फरा, ठेठरी, खडैल, बफौरी, रसाज, बिजौरी, डुबकी, धारी, नुनछुर, सलौनी, गुना, अईपन, बरा, चाऊर रोटी और मीठे व्यंजनों में बबरा, देहरउरी, मालपुआ, दूधफरा, अइरसा, खुरमी, बिड़िया, पिड़िया, पपची, पूरन लाड़ू, करी लाड़ू, बूंदी लाड़ू, मुर्रा लाड़ू, खाजा, कोचई पपची आदि शामिल हैं।

योजना तैयार, जल्द खोला जाएगा फूड कार्नर: सीएमओ

नगर पालिका सीएमओ लाल अजय बहादुर ने बताया ठाकुर विश्राम सिंह पार्क में छत्तीसगढ़ी फूड कार्नर खोलने योजना बनाई गई है। प्रस्ताव बना जिला प्रशासन को भेजा जाएगा। यहां सिर्फ छत्तीसगढ़ी पकवान ही मिलेंगे।

X
Kanker News - chhattisgarh news sprinkled in the park rekha khurmi39s smell chhattisgarhi dish will be available
Astrology

Recommended

Click to listen..