--Advertisement--

बंद पड़े हैंडपंप पर लोग बांध रहे मवेशी, जो ठीक उनमें भी गंदा पानी

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:42 AM IST

Kanker News - पीने का पानी मुहैया कराने लगाए गए हैंडपंपों की हालत खराब है। इनमें से कई हैंडपंप महीनों से बंद पड़े हैं। खराब...

Kanker News - chhattisgarh news the cattle lying on the closed handpump which are also dirty water in them
पीने का पानी मुहैया कराने लगाए गए हैंडपंपों की हालत खराब है। इनमें से कई हैंडपंप महीनों से बंद पड़े हैं। खराब हैंडपंपों की स्थिति देख लोग अब उसमें मवेशी बांधने लगे हैं। नगर पालिका भी इसमें सुधार की दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। जो हैंडपंप काम कर रहे हैं वे गंदा पानी देते रहे हैं। जिसका इस्तेमाल नहीं हो पा रहा है।

कांकेर शहर में पालिका ने कुल 200 हैंडपंप लगाए हैं। इनमें से 15 हैंडपंप दो महीने से लेकर दो साल तक से बंद हैं। जिससे इनके वार्डों में पीने के पानी की समस्या हो रही है। गर्मी में स्थिति और खराब हो जाएगी। अघननगर वार्ड का हैंडपंप सालभर से ज्यादा समय से खराब है, लेकिन सुधरवाने ध्यान नहीं दिया जा रहा। आमापारा वार्ड में राशन दुकान के सामने दो वर्ष से हैंडपंप खराब पड़ा है। इसके अलावा भंडारीपारा वार्ड, अन्नपूर्णापारा, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, शिवनगर वार्ड, पवन नगर, टिकरापारा, बीटीआई कॉलोनी में महीनों से हैंडपंप खराब पड़े हैं।

शांतिनगर में महीनों से खराब पड़े हैंडपंप में अब वार्डवासी मवेशी बांध रहे हैं। पवन नगर की रामेश्वरी टंडन व रमा विश्वास ने कहा कि खराब हैंडपंप को बनाने पर ध्यान देना चाहिए। क्योंकि जब नल में पानी नहीं आता है, तब हैंडपंप ही सहारा होता है। हैंडपंप खराब होने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

कांकेर। शांति नगर में बंद पड़े हैंडपंप में बांधे जा रहे मवेशी।

कई हैंडपंप का पानी पीने योग्य नहीं

कुछ हैंडपंप से गंदा व आयरनयुक्त पानी आ रहा है। जो पीने योग्य नहीं है। लट्टीपारा के हैंडपंप में मटमैला पानी आता है। विजय साहू, अशोक ध्रुव ने कहा कि हैंडपंप में लगे पाट्स काफी पुराने हो चुके है। जिससे अब काफी समय से पानी गंदा आ रहा है। भावसिंह नगर, माहुरबंदपारा में भी आयरनयुक्त पानी आता है। इसके अलावा अलबेलापारा वार्ड में दो हैंडपंप में खराब पानी आ रहा है। वार्ड के रामनारायण उइके ने कहा कि घर के सामने के हैंडपंप से लौहयुक्त पानी आता है। महादेव वार्ड में नदी तट में लगा हैंडपंप से भी गंदा पानी आने की शिकायत गुमटी वालों ने की।

एमजी वार्ड में सात महीने से बोर भी खराब

हैंडपंप की तरह बोर की भी स्थिति खराब है। एमजी वार्ड में बोर 7 महीने से खराब है। गत वर्ष ही जनवरी में बोर शुरू किया गया था। अब इसके बंद होने से नदी तट पर बसे परिवारों को ज्यादा दिक्कत हो रही है। वार्ड की सुलताना बेगम, जयतुन, सितारा बेगम, रजिया बेगम ने कहा कि बोर 7 महीने से खराब स्थिति में है। जिससे पानी को लेकर परेशानी बढ़ गई है। नल भी एक बार ही आता है वह भी सुबह 5 बजे।

वाटर एटीएम भी खराब

पिछले साल अप्रैल में नया बस स्टैंड में वाटर एटीएम लगाया गया था, लेकिन अभी तक की स्थिति में वाटर एटीएम खराब पड़ा है। इसके अलावा पुराना बस स्टैंड के वाटर कूलर भी खराब है। जिसे 2016 में गर्मी में लगाया गया था, लेकिन कुछ महीने बाद वाटर कूलर खराब हो गया।

मरम्मत कराई जाएगी

नगर पालिका सीएमओ लाल अजय बहादुर सिंह ने कहा कि हैंडपंप खराब होने की शिकायत नहीं मिली है। जहां से शिकायत मिलेगी, वहां मरम्मत कार्य कराया जाएगा। वाटर एटीएम का पैनल टूट गया है। उसके मरम्मत के लिए कर्मचारी नहीं मिल रहे हैं। बाहर से बुलवाना पड़ता है। पुराना बस स्टैंड के खराब पड़े वाटर कूलर को बनवाया जाएगा।

X
Kanker News - chhattisgarh news the cattle lying on the closed handpump which are also dirty water in them
Astrology

Recommended

Click to listen..