• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kanker News
  • खराब मौसम में चांद का नहीं हुआ दीदार, आज से रखा जाएगा रोजा
--Advertisement--

खराब मौसम में चांद का नहीं हुआ दीदार, आज से रखा जाएगा रोजा

रमजान का पाक महीना शुक्रवार 18 मई से शुरू हो गया। बुधवार 16 मई की शाम चांद के दीदार की कोशिश की गई थी। लेकिन मौसम खराब...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 02:20 AM IST
रमजान का पाक महीना शुक्रवार 18 मई से शुरू हो गया। बुधवार 16 मई की शाम चांद के दीदार की कोशिश की गई थी। लेकिन मौसम खराब होने के कारण चांद का दीदार नहीं हो पाया। जिसके चलते इस्लामिक केलेंडर के अनुसार 18 मई से रमजान का महीना शुरू होने व पहला रोजा रखने का फैसला लिया गया। रमजान को लेकर मुस्लिम समाज में जश्न का माहौल है।

गुरूवार रात से शहर की तीनों मस्जिदों में तरावीह की नमाज शुरू हो गई। इसके साथ ही रात में सहरी कर आज शुक्रवार को पहला रोजा रखा जाएगा। शब ए बारात के बाद से ही मुस्लिम समाज ने रमजान माह की तैयारियां शुरू कर दी गई थी। 17 मई से पहला रोजा पड़ने की उम्मीद जताई जा रही थी। लेकिन चांद नजर नहीं आया। इस साल कांकेर इलाके में रोजा करीब 15 घंटों का होगा। यह सुबह 4 बजे से शुरू होकर शाम 7 बजे खत्म होगा। गुरूवार रात बड़ी संख्या में तरावीह की नमाज में शामिल होने नमाजी जामा मस्जिद पहुंचे। शाम को रमजान शुरू होने की लोगों ने एक दूसरे को बधाई दी। रमजान के लिए शहर की सभी मस्जिदों की सजावट की गई है। शहर की जामा हनफिया मस्जिद गिल्ली चौक, मस्जिद एक सिब्तैन रजा संजय नगर तथा मस्जिदे अमान ए शरीअत रजानगर सिंगारभाट में नमाजियों की भीड़ बढ़ गई है। हर साल की तरह अंजुमन इस्लामिया कमेटी कांकेर ने रमजान के लिए विशेष इंतजाम किए हैं। नायब सदर हाजी हनीफ मेमन ने बताया गर्मी को देखते हुए मस्जिदों में इफ्तार, नमाज व तरावीह की नमाज के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। ताकि रोजेदारों व नमाजियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो।

जामा मस्जिद चौक में की गई लाइटिंग से बढ़ी रौनक,

रमजान शुरू होने के साथ ही शहर के मध्य स्थित जामा हनफिया मस्जिद चौक की रौनक बढ़ गई है। शहर की तीनों मजिस्दों के साथ साथ जामा मस्जिद को भी आकर्षक लाइटिंग से सजाया गया है। इसके साथ ही आसपास के भवनों की भी साज सज्जा की गई। रमजान को देखते जामा मस्जिद के निकट तरह तरह के पकवानों के भी ठेले लगाए जा रहे हैं। इससे यहां देर रात तक चहल पहल बनी हुई है।

कांकेर. रमजान के लिए जामा मस्जिद में की गई आकर्षक साज सज्जा।