--Advertisement--

27 मितानिनों की तबीयत बिगड़ी पिछले 7 दिनों से पंडाल में डटी थीं

पिछले सात दिनों से लगातार पंडाल में बेमुद्दत हड़ताल में डटी 27 मितानिनों की गुरूवार को अचानक तबियत खराब हो गई। इनमें...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 02:25 AM IST
27 मितानिनों की तबीयत बिगड़ी पिछले 7 दिनों से पंडाल में डटी थीं
पिछले सात दिनों से लगातार पंडाल में बेमुद्दत हड़ताल में डटी 27 मितानिनों की गुरूवार को अचानक तबियत खराब हो गई। इनमें एक अंतागढ़ विधायक भोजराज नाग की चचेरी बहन भी शामिल है। मितानिनों की तबियत खराब होने का कारण भीषण गर्मी को बताया जा रहा है। क्योंकि ये सभी इसी गर्मी में लगातार पंडाल में रह रही थी। अचानक हुई तबियत खराब होने पर इन्हें हड़ताल से घर रवाना कर दिया।

10 मई से मितानिनों द्वारा मिनि स्टेडियम में अपनी मांगों को लेकर हड़ताल किया जा रहा है। भीषण गर्मी होने के बावजूद मितानिनें यहां दिन रात डटी हुई थी। एक दिन पूर्व 16 मई को मितानिनों ने दोपहर में तेज गर्मी में शहर में रैली निकाली थी। धूम में रैली निकालने के दौरान ही कई मितानिन गर्मी से बेहाल हो गई थी।

रात में सिर दर्द व पेट दर्द की शिकायत करने लगी। आधी रात को मितानिनों को उल्टी व दस्त होने लगी। कुछ को बुखार भी आ गया। जिन्हें रात में ही इलाज मुहैया करा सुबह उनके निवासी रवाना कर दिया गया। सुबह भी यह सिलसिला जारी रहा। इन्हें भी एक एक कर रवाना किया जाता रहा। दोपहर में तक कुल 27 मितानिनों की तबियत खराब हो गई थी। इनमें अंतागढ़ विधायक की चचेरी बहन सुनिता उईके हिमोड़ा अंतागढ़ के अलावा ग्वालिन साहू नवागांव अंतागढ़, वेदवत्ती काटिंगल गोडरी, सोनबत्ती दुग्गा हिमोड़ा को उल्टी दस्त की शिकायत थी। इन्हें दोपहर में ही पंडाल में इलाज दिया जाता रहा। बिमला साहू अंतागढ़ ने बुखार व पेटदर्द तथा अनिता गावड़े अंतागढ़ ने बुखार व सिर दर्द की शिकायत की। अन्य मितानिनों को भी इसी प्रकार की शिकायतें थीं।

पंडाल के आसपास नहीं है पानी की व्यवस्था : मितानिनों ने बताया पंडाल के आसपास पानी के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। ट्राइबल कालोनी में एक हैंडपंप है जो खराब है। निकट के खंड शिक्षा कार्यालय से पानी मिलता है। वह भी कार्यालय के खुला रहने पर। टैंकर की मांग की गई थी वह भी पंडाल में नहीं मिला। पानी की कमी के चलते मितानिनों की तबियत खराब होना शुरू हो गई।

कांकेर। हड़ताल पर बैंठी मितानिनों की तबीयत बिगड़ी।

सरकारी दवाइयों का इस्तेमाल भी बंद किया

मितानिनों ने बताया वे हड़ताल में है। सरकारी काम बंद कर दी हैं। इस दौरान जब तबियत खराब हुई तो वे उनके पास मौजूद सरकारी ओआरएस घोल व दवाइयों का इस्तेमाल बंद कर दी। दवा दुकानों से दवाइयां खरीदी गई। जिसे मरीजों को दिया गया।

अब शाम को पंडाल में नहीं रुकेंगी मितानिनें

अंतागढ़ व दुर्गूकोंदल की मितानिनें रोज आना-जाना नहीं करने के कारण पंडाल में ही गर्मी में रह रही थी। गर्मी में हड़ताल में शामिल होने व रात में भी गर्म हवाओं के चलते उनकी तबियत खराब होने लगी। इसे देखते हुए संघ ने फैसला लिया है कि अब शाम को हड़ताल के बाद मितानिनें घर लौट जाएंगी। सप्ताह वार अलग अलग विकासखंड की मितानिने पंडाल में प्रदर्शन करेंगी। 18 मई से चारामा व नरहरपुर की मितानिनें पंडाल में प्रदर्शन करेंगी।

हौंसला कमजोर नहीं होगा आगे भी जारी रहेगी हड़ताल

अध्यक्ष इंदु कावड़े ने कहा मितानिनों की तबियत खराब होने से सरकार ऐसा नहीं समझे की हम पीछे हट जाएंगे। ये आरपार की लड़ाई है। चाहे जो हो हड़ताल जारी रहेगी। मितानिनों के स्वास्थ्य को देखते हुए रणनीति बदल दी गई है। अब अलग अगल ब्लाक की मितानिन सप्ताहवार यहां प्रदर्शन करेंगी। जिनकी तबियत बिगड़ी है उन्हें घर भेजा गया है।

X
27 मितानिनों की तबीयत बिगड़ी पिछले 7 दिनों से पंडाल में डटी थीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..