Hindi News »Chhatisgarh »Kanker» अन्नपूर्णापारा-सुभाषवार्ड के लोग चार सालों से कर रहे दूध नदी पर पुल बनाने की मांग

अन्नपूर्णापारा-सुभाषवार्ड के लोग चार सालों से कर रहे दूध नदी पर पुल बनाने की मांग

शहर के बीच से होकर गुजरी दूध नदी पर एक ही पुल होने पर वीआईपी व अन्य कोई कार्यक्रम होने पर जाम की स्थिति निर्मित हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:55 AM IST

अन्नपूर्णापारा-सुभाषवार्ड के लोग चार सालों से कर रहे दूध नदी पर पुल बनाने की मांग
शहर के बीच से होकर गुजरी दूध नदी पर एक ही पुल होने पर वीआईपी व अन्य कोई कार्यक्रम होने पर जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है। यहां से 1 किमी दूरी पर स्थित अन्नपूर्णापारा से होते हुए एमजी वार्ड को जोड़ते पुल बना दिया जाए तो काफी हद तक ट्रैफिक का दबाव कम हो जाएगा। इसी को लेकर अन्नपूर्णापारा-सुभाष वार्ड के लोग 4 सालों से पुल बनाने की मांग प्रशासन से कर रहे हैं।

पुल का निर्माण होने से अन्नपूर्णापारा मार्ग से नया बस स्टैंड, कलेक्ट्रेट, न्यायालय, नया बाजार व नया बस स्टैंड सीधे जुड़ जाएगा और इससे दूरी भी कम हो जाएगी। वार्डवासी इस संबंध में इस वर्ष लोक सुराज में भी आवेदन कर चुके हैं। कई बार जिला प्रशासन के साथ नगरपालिका व सेतु विभाग से भी ज्ञापन सौंपा जा चुका है।

श्रमदान कर पैदल चलने योग्य बनाया गया

वार्डवासियों द्वारा श्रमदान से नदी पर पैदल चलने लायक मार्ग बनाया गया है। वार्ड के दिलीप पटेल ने अपने परिवार व वार्डवासियों के साथ 4 दिन तक श्रमदान कर मार्ग को चलने योग्य बनाया। लेकिन मार्ग में नाली का गंदा पानी आने से दिक्कत होती है। ललिता साहू, दिलीन नागवंशी, बंटी रवानी, आशीष, राजेश बजाज, सुनील रवानी, नंदकिशोर यादव ने कहा अन्नपूर्णापारा मार्ग के दूध नदी पर पुल बनाना चाहिए।

इसमें बाइक व कार का आवागमन हो सके। अभी पैदल आवागमन हो रहा है, लेकिन बारिश के दौरान आवागमन पूरी तरह से बंद हो जाएगा। पुल बनने से दूरी कम हो जाएगी।

कांकेर। अन्नपूर्णापारा का दूध नदी तट जहां पुल बनाने की मांग की जा रही है।

ट्रैफिक का दबाव कम होगा

शहर में जब भी कोई रैली निकलती है तो शहर के मध्य में स्थित दूध नदी पर बने पुल में ट्रैफिक का दबाव बढ़ जाता है। पुल पर ट्रैफिक का दबाव रहने से दुर्घटनाएं भी होती रहती है। 13 अप्रैल को भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका की रैली निकली। तब पुल पर दबाव बढ़ गया था। इस कारण दूध नदी में पुल बनना जरूरी है।

संबंधित विभाग को भेज दिया गया है: सीएमओ

नगरपालिका सीएमओ लाल अजय बहादुर सिंह ने कहा नगरपालिका को वार्डवासियों को इस संबंध में लोक सुराज से आवेदन मिला था। इसको संबंधित विभाग को भेज दिया गया है। संबंधित विभाग को ही इसका स्टीमेट बनाकर मार्ग में पुल बनाने का काम करना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kanker

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×