Hindi News »Chhatisgarh »Kanker» प्रयास स्कूल-हाॅस्टल बनाने ईमलीपारा तालाब पाटने के विरोध में आए लोग

प्रयास स्कूल-हाॅस्टल बनाने ईमलीपारा तालाब पाटने के विरोध में आए लोग

प्रयास आवासीय विद्यालय और हॉस्टल बनाने के लिए तालाब पाटने को लेकर शहर के ईमलीपारा वासियों में बेहद नाराजगी है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:05 AM IST

प्रयास स्कूल-हाॅस्टल बनाने ईमलीपारा तालाब पाटने के विरोध में आए लोग
प्रयास आवासीय विद्यालय और हॉस्टल बनाने के लिए तालाब पाटने को लेकर शहर के ईमलीपारा वासियों में बेहद नाराजगी है। वार्ड के लोगों को कहना है इस रियासतकालीन तालाब का निर्माण उनके पूर्वजों ने श्रमदान कर किया था। सरकार एक ओर जलसंरक्षण करने अधिक से अधिक तालाब खोदने पर जोर दे रही है वहीं दूसरी ओर कांक्रीट भवन बनाने इस जल स्त्रोत को पाटना गलत है। प्रयास विद्यालय बनाने का वे विरोध नहीं बल्कि तालाब पाटने का विरोध कर रहे हैं। विद्यालय भवन बनाने किसी दूसरे स्थल का चयन करना चाहिए।

ईमलीपारा में प्रयास आवासीय विद्यालय व हास्टल का निर्माण किया जा रहा है। बालक-बालिका दोनों के लिए हास्टल निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए ईमलीपारा स्थित 2 एकड़ के तालाब को पाटा जा रहा है। तालाब के कुछ हिस्से को तो पाट भी दिया गया है। तालाब पाटने की जानकारी तक वार्ड के लोगों को नहीं दी गई। 30 अप्रैल को सुबह तालाब के पास पोकलेन पहुंची तथा पाटने काम शुरू किया तो वार्ड के 50 से अधिक महिला पुरुष पहुंचे जमा हो गए तथा विरोध करते काम रूकवाया।

तालाब पटवाने आदेश जारी: वार्ड के लोग कई वर्षों से तालाब गहरीकरण की मांग कर रहे थे। साथ ही तालाब में निस्तारी के लिए घाट बनाने की मांग की जा रही है। वार्डवासियों ने कहा गहरीकरण की मांग पर तो प्रशासन ने ध्यान दिया नहीं उल्टे तालाब पटवाने आदेश जारी कर दिया।

ईमलीपारा तालाब जिसे पाटने पहुंचे अमले को वार्ड के लोगों ने भेजा वापस।

पहले भी पट चुके हैं तालाब

वर्तमान में शहर में कुल 14 तालाब हैं। शहर में पहले भी तालाब व डबरी विकास के नाम पाटी जा चुकी है। नया बसस्टैंड निर्माण के दौरान रजबंधा तालाब पाट दिया गया। शहर के मध्य स्थित एक डबरी को कालोनी बनाने पाट दिया गया। अंधियार खोप डबरी आधी से ज्यादा अतिक्रमण हो चुकी है तथा पालिका अब इसे भी पाटने की तैयारी में है। इसके अलावा दीवान तालाब, मारादेव सहित अन्य तालाबों में चारो ओर अतिक्रमण तेजी से हो रहा है।

मंगलवार को कलेक्टर से करेंगे शिकायत

ईमलीपारा वार्डवासी सोमवार को ही कलेक्टोरेट तथा नगरपालिका जाकर तालाब पाटने विरोध प्रदर्शन करने वाले थे लेकिन सोमवार को शासकीय अवकाश होने के कारण मंगलवार को विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया।

तालाब पाटने नहीं, उसके पास खाली जमीन है आवंटित

प्रभारी एसडीएम भारती देवांगन ने कहा प्रयास आवासीय विद्यालय निर्माण के लिए तालाब के पास वाली खाली जगह आबंटित की गई है। तालाब पाटने नहीं कहा गया है। मौके पर टीम को भेज परीक्षण कराया जाएगा।

श्रमदान से बना था तालाब

ईमलीपारा का शिव तालाब लोगों के श्रमदान से बना था। ईमलीपारा के लोगों ने ही पानी की समस्या से निपटने अपने स्तर पर तालाब बनवाया था। इसी तालाब का उपयोग वार्ड के लोग निस्तारी के लिए करते थे तथा इसके बन जाने से क्षेत्र का वाटर लेवल भी सुधर गया था।

तालाब को बचाने के लिए करेंगे आंदोलन

नगरपालिका व कलेक्टोरेट में अफसरों से मिलने के बाद भी तालाब पटवाने का आदेश रद्द नहीं किया गया वार्डवासियों ने तालाब को बचाने आंदोलन करने का निर्णय लिया है। भंडारीपारा के राकेश यादव ने कहा ईमलीपारा का एकमात्र तालाब है इसे किसी भी हाल में पटने नहीं दिया जाएगा। उर्मिला देहारी, तिजो पद्दा, बसंती कुलदीप, दशोदा मानिकपुरी, रामबती सलाम, वेदबती मारगिया, दशोबाई, सुकारोबाई प्रतिमा महंत ने कहा तालाब को विकसित करना चाहिए, इसे पाटा जाना गलत है। शंभु मारगिया, कैलाश कावड़े, रतन नाईक, विजय शर्मा, फागूराम कोर्राम, टीकम सलाम, सोनू गोटा, भारत मानिकपुरी, जय मानिकपुरी ने कहा तालाब उनके पूर्वजों की निशानी है इसे किसी भी सूरत में पटने नहीं देंगे।

निर्माण को लेकर दोनों पक्षों में हुआ विवाद

मौके पर काम करने पहुंचे कर्मचारियों का कहना था प्रशासन से इसके लिए अनुमति मिल चुकी है, फिर वार्ड के लोग क्यों काम रूकवा रहे है। वार्डवासियों का कहना था यह ईमलीपारा का एकमात्र तालाब है जिसे वे किसी भी सूरत में पाटने नहीं देंगे। इसे लेकर दोनों पक्षों में जमकर विवाद भी हुआ।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kanker

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×