--Advertisement--

जब हम नकारात्मक सोचते हैं तो अपने को श्रापित करते हैं: कमल

ब्रह्माकुमारीज के आरइआरएफ के युवा प्रभाग की अखिल भारतीय प्रदर्शनी बस जगदलपुर से सिगांरभाट पहुंची। यहां अभियान...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:30 AM IST
Kanker - when we think negative then we admit to ourselves lotus
ब्रह्माकुमारीज के आरइआरएफ के युवा प्रभाग की अखिल भारतीय प्रदर्शनी बस जगदलपुर से सिगांरभाट पहुंची। यहां अभियान का स्वागत किया गया। इसके बाद बस स्टैंड पहुंची, जहां मुख्य कार्यक्रम हुआ। हरियाणा के साफ्टवेयर इंजीनियर बीके कमल ने प्रदर्शनी बस अभियान का उद्देश्य बताते हुए कहा कि हम सभी अपने आप को रोज वरदान भी देते हैं और श्रापित भी करते हैं। उन्होंने कहा जब हम निगेटिव सोचते हैं तो अपने को श्रापित करते हैं और इसका प्रभाव भी निश्चित तौर पर पड़ता है। आज से हम खुद के साथ दूसरों को वरदान दें, सभी के लिए अच्छा सोचें।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जन सहयोग संस्था के अध्यक्ष अजय पप्पू मोटवानी थे। विशिष्ट अतिथि इस्लामिक कमेटी के अध्यक्ष सरवर अली खान, भूतपूर्व नगर पालिका अध्यक्ष और सिंध समाज अध्यक्ष लक्ष्मीकांत लालवानी थे। समाजसेवी संस्था के अजय पप्पू मोटवानी यात्रा की शुभकामना देते हुए मोमेंटो भेंट किया।

कांकेर। दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत करते अतिथि।

राजयोग मेडिटेशन से बढ़ती है आत्मिक शक्ति

कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज के बस्तर संभाग के बीके मंजूषा, बीके रश्मि बहन और उनकी 14 सदस्यों की टीम का तिलक व बैज लगाकर सम्मान किया गया। अहमदाबाद के मनोवैज्ञानिक और अधिवक्ता बीके रश्मि बहन ने कहा कि अपने को परिवर्तन करना सब चाहते है। इसके लिए शक्ति आध्यात्म से मिलेगी। स्व परिवर्तन से ही विश्व परिवर्तन संभव है। उन्होंने बताया राजयोग मेडिटेशन से आत्मिक शक्ति में वृद्धि होती है और इससे मनोविकारों पर विजय प्राप्त कर सकते हैं।

X
Kanker - when we think negative then we admit to ourselves lotus
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..