किसानों से 17 लाख की ठगी चेक बाउंस होने पर खुलासा

Kawardha News - लोहारा थाना क्षेत्र में किसानों से 17 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। गंडई (राजनांदगांव) के पूनमचंद जैन नाम के...

Jul 14, 2019, 07:05 AM IST
लोहारा थाना क्षेत्र में किसानों से 17 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। गंडई (राजनांदगांव) के पूनमचंद जैन नाम के कथित व्यापारी ने किसानों से ठगी की है। मंडी भाव से 250 रुपए अधिक में खरीदी का झांसा देकर पिछले 3 साल से किसानों को ठगता रहा। दबाव बनाने पर चेक के जरिए किसानों को भुगतान किया।

किसानों ने जब बैंक में चेक लगाया, तो खाते में पर्याप्त राशि न होने से चेक बाउंस हो गया। तब उन्हें अपने साथ हुई ठगी का पता चला। पीड़ित किसानों ने छग संयुक्त किसान मोर्चा को अपने साथ हुई धोखाधड़ी के बारे में जानकारी दी। शनिवार को किसान मोर्चा के सदस्य लोहारा पहुंचे। यहां उन्होंने कथित व्यापारी पूनमचंद जैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने थाने में आवेदन दिया और राशि वापस दिलाने मांग की गई।

आरोपी पूनमचंद जैन खुद को व्यापारी बताकर किसानों से चना खरीदता रहा, लेकिन भुगतान किए बिना ही फरार हो गया। पूनमचंद जैन नाम का व्यापारी न तो कृषि उपज मंडी में पंजीकृत है और न ही गंडई (राजनांदगांव) में, जहां का वह रहने वाला है।

शिकायत: जुर्म दर्ज करने दिया आवेदन

कवर्धा. कथित व्यापारी के खिलाफ एकजुट हुए किसान।

5.30 लाख व 3.82 लाख का चेक दिया

पीड़ित किसान बदरुराम पटेल और आत्माराम पिछले 2 साल से कथित व्यापारी के पास ही चना बेचते थे। किसानों को भुगतान के लिए घुमा रहा था, तो कथित व्यापारी ने अप्रैल 2019 तक पूरा भुगतान करने स्टाम्प पर लिखकर दिया था। उसके बाद भी पेमेंट नहीं किया। किसान कोर्ट-कचहरी के चक्कर में नहीं पड़ना चाहते थे, इसलिए व्यापारी को एक और मौका दिया। इस बीच वह भुगतान किए बगैर ही फरार हो गया। उसके खिलाफ गंडई में मामला दर्ज है।

कार्रवाई नहीं तो मोर्चा करेगा आंदोलन

फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद लोहारा कॉलेज के पास ही छग संयुक्त किसान माेर्चा के सदस्याें ने आपात बैठक की। लोहारा थाने में आवेदन देकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने और किसानों का पैसा दिलाने मांग की गई। कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में आंदोलन करने की चेतावनी दी गई है। ज्ञापन सौंपने वालों में किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अनिल दुबे, महेन्द्र कौशि, रवि चंद्रवंशी, जैकरण पटेल, योगेश शर्मा समेत बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहे।

लोहारा में नई मंडी बनी पर उद्‌घाटन नहीं

किसानों से ठगी के लिए जिला व मंडी प्रशासन भी जिम्मेदार है। जिले में सिर्फ कवर्धा मंडी में ही उपज की खरीदी-बिक्री हो रही है। दूर-दराज गांवों से किसान यहां उपज बेचने आते हैं। इससे उन्हें परिवहन खर्च अधिक पड़ता है। इस कारण वे क्षेत्र में घूम रहे ऐसे बिचौलियों के झांसे में आ रहे हैं। पंडरिया में कृषि मंडी है, लेकिन 12 साल से बंद पड़ा है। सहसपुर लोहारा में भी नई मंडी बनी है। वह भी मंत्री के टाइम न देने से उद्घाटन के इंतजार में है। विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में आई कांग्रेस सरकार के मंत्री से इस मंडी का उद्घाटन कराना चाहते थे, लेकिन टाइम नहीं दिया।

पुलिस से शिकायत


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना