--Advertisement--

कमीशन खा गया सड़क, 2.20 लाख नहीं दे पाए ठेकेदार, नतीजा-सड़क नहीं बनी

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:46 AM IST

Kawardha News - शहर के 5 वार्डों में सीसी रोड व नाली निर्माण के लिए 22 लाख रुपए स्वीकृत हुए हैं। टेंडर लेने की होड़ में ठेकेदारों ने...

Kawardha News - chhattisgarh news commissioned road 220 lakh can not be given contractor result road not made
शहर के 5 वार्डों में सीसी रोड व नाली निर्माण के लिए 22 लाख रुपए स्वीकृत हुए हैं। टेंडर लेने की होड़ में ठेकेदारों ने पहले तो तय राशि से कम में ठेका लिया। जब वर्कआर्डर जारी हुए, तो 6 महीने बाद भी काम शुरू नहीं किया। क्योंकि ठेकेदारों को इन कामों का 8 प्रतिशत यानि 2.20 लाख रुपए नगर पालिका को कमीशन देना पड़ता।

तय रेट से कम में टेंडर लेने और कमीशन देने के बाद पैसे नहीं बचते, इसलिए ठेकेदारों ने वर्कऑर्डर के बावजूद सड़क नहीं बनाई। काम शुरू करने नपा अफसरों ने ठेकेदारों 2 बार नोटिस भेजा। फिर भी काम शुरू नहीं हुआ, तो इन्हें 3- 3 साल के लिए ब्लैकलिस्ट तो कर दिया है, लेकिन वार्डवासियों की समस्या जस की तस है। वार्डों में सड़कें बदहाल हैं, जिस पर लोगों को चलना पड़ रहा है। सड़कों के बीच घरों का गंदा पानी जमा हो रहा है। पक्की नालियां न बनने से गंदे पानी की निकासी व्यवस्था नहीं है, जिससे लोग परेशान हैं। कमीशन की वजह से काम न हो पाने से लोग सिस्टम को कोस रहे हैं।

हमारा सवाल : ऐसे कम दर के टेंडर जनता के किस काम के?

कवर्धा. स्वीकृति के 6 महीने बाद भी नहीं बनी सड़क।

.. तो 14वें वित्त में 8 से 9% कमीशन तय

नगर पालिका और चुने हुए जनप्रतिनिधियों का कमीशन तय होता है। पार्षद निधि के कार्यों में 18% कमीशन तय है। इसी तरह 14वें वित्त और अधो संरचना मद से होने वाले कार्यों में स्वीकृत राशि से 8 से 9 प्रतिशत कमीशन नपा व जनप्रतिनिधियों को मिलता है।

काम में सुस्ती, ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट की चेतावनी

इधर दर्री तालाब के सौंदर्यीकरण के काम भी सुस्ती बरती जा रही है। टेंडर लेने वाली कंपनी हिमांशु कंस्ट्रक्शन पंडरिया को नोटिस दिया गया है। ब्लैकलिस्ट करने की चेतावनी दिए हैं। दशकों पुराने दर्री तालाब का 99 लाख रुपए से सौंदर्यीकरण होना है। राशि से तालाब किनारे बाउंड्रीवाॅल, पाथवे और गेट का काम होना है। शुरुआत में इस तालाब की सफाई में नगर पालिका ने 6 महीने लगा दिए। टेंडरिंग के बाद बाउंड्रीवॉल का काम अधूरा है। हाल ही में कलेक्टर अवनीश कुमार ने तालाब का निरीक्षण किया था। उन्हाेंने ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट करने का निर्देश दिया था।

ब्लैकलिस्ट हुए दोनों ठेकेदार कोरबा के

डॉ. भीमराव अंबेडकर वार्ड- 7, शंकर नगर वार्ड- 8, बूढ़ा महादेव वार्ड- 11, शक्ति वार्ड- 14 और मारूति वार्ड- 15 में सीसी रोड व नाली निर्माण होना है। इसके लिए 14वें वित्त और अधो संरचना मद से 22 लाख रुपए मंजूर हुए हैं। जुलाई 2018 में इन कामों का टेंडर हुआ था। कोरबा जिले के मां भवानी कंस्ट्रक्शन और करण सिंह इन दो ठेकेदारों ने टेंडर लिया, लेकिन 6 महीने बीतने के बावजूद काम शुरू नहीं किया।

तीन एकड़ में तालाब सौंदर्यीकरण से फायदा

करीब 3 एकड़ क्षेत्रफल में फैले दर्री तालाब का सौंदर्यीकरण होना है। इस पर 99 लाख रुपए खर्च होगा। काली तालाब में बने सुधा वाटिका की तर्ज पर इसमें भी सौंदर्यीकरण काम होंगे। इसे चौपाटी के रूप में डेवलप करेंगे। बच्चों के मनोरंजन के लिए झूले लगाएंगे ताकि यहां लोग सैर कर सकें।

  सुनील अग्रहरि, सीएमअो, नपा

दोबारा टेंडर करवाएंगे


-ठेकेदारों को वर्कऑर्डर जारी हुआ था, लेकिन उन्होंने रुचि नहीं दिखाई।


-ये तो नहीं पता, लेकिन ब्लैकलिस्ट करने के पूर्व उन्हें दो बार नोटिस भेजा था।


-सड़कें बनेंगी। दोबारा टेंडर निकालेंगे।

X
Kawardha News - chhattisgarh news commissioned road 220 lakh can not be given contractor result road not made
Astrology

Recommended

Click to listen..