विज्ञापन

गोपियों का एकात्मभाव ही रास जो गोपी वही भगवान कृष्ण भी

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 03:02 AM IST

Kawardha News - ब्लॉक के ग्राम भरेवापूरन में पिछले 7 फरवरी से श्रीमद् भागवत महापुराण कथा चल रही है। कथा व्यास पंडित ध्रुव शर्मा ने...

Pandriya News - chhattisgarh news gopis is the only one who believes in god shree krishna
  • comment
ब्लॉक के ग्राम भरेवापूरन में पिछले 7 फरवरी से श्रीमद् भागवत महापुराण कथा चल रही है। कथा व्यास पंडित ध्रुव शर्मा ने बताया कि गोपियों का एकात्म भाव होना ही रास है।

उन्होंने उदाहरण देते हुए स्पष्ट किया कि जैसे खेतों में धान भले ही अलग-अलग दिखाई दे। वे भले ही अलग-अलग किस्म के हों, लेकिन जब उस धान को किसान काटकर खलिहान में इकट्ठा करता है, तो उसे हम रास कहते हैं। उस रास से किसी धान को या धान के पेड़ को अलग कर पाना पहचान पाना कठिन कार्य ही नहीं अपितु असंभव है। इस दौरान पूर्व विधायक मोतीराम चंद्रवंशी भी उपस्थित हुए। कथा में चंद्रिका बाई चंद्राकर, प्रभात चंद्राकर, मुन्नी बाई चंद्राकर, सहायक विकासखंड शिक्षा अधिकारी भानुप्रताप चंद्राकर, प्रियंका चंद्राकर भी मौजूद रहे। कथाव्यास ने कहा कि एकात्मकता की भावना से भरे भाव गोपी हैं। जो गोपी हैं, वही भगवान कृष्ण हैं, कृष्ण से अपने आप को बिलग नहीं कर पाना ही रास है।

आयोजन में परायणकर्ता पंडित विनोद शास्त्री हैं। कथा प्रतिदिन दो खंडों में प्रथम खंड 10.30 से 1.30 तक व द्वितीय खंड 2.30 से 5.30 बजे तक आयोजित है।

X
Pandriya News - chhattisgarh news gopis is the only one who believes in god shree krishna
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें