ये हादसा सबक पीछे बैठा व्यक्ति भी हादसे में घायल, रायपुर रिफर किया

Kawardha News - भास्कर न्यूज | रांका/बेमेतरा रायपुर एनएच 30 में मंगलवार बीती रात ग्राम कठिया तालाब के पास अनियंत्रित मोड़ में...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 02:46 AM IST
Kawardha News - chhattisgarh news the person behind the incident lesson also injured in the accident reipur reupted
भास्कर न्यूज | रांका/बेमेतरा

रायपुर एनएच 30 में मंगलवार बीती रात ग्राम कठिया तालाब के पास अनियंत्रित मोड़ में बाइक सवार दो युवक सड़क किनारे लगे डिवाइडर से टकरा गए, जिससे घटनास्थल पर ही चालक की मौत हो गई। वहीं पीछे बैठा व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे उपचार के लिए सिमगा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के पश्चात उसे रायपुर रेफर कर दिया।

घटना रात 10 बजे की है। ग्राम छीतापार निवासी ज्ञानदास पुरैना पिता बोधीदास (28) अपने ससुराल सरोरा गया हुआ था। जहां से वापस अपने साथी मोहन सतनामी के साथ घर लौट रहा था। इस दौरान ग्राम कठिया तालाब मोड़ के पास अनियंत्रित होकर विपरीत दिशा में सड़क किनारे लगे डिवाइडर से उसकी बाइक टकरा गई। घटना में बाइक चालक ज्ञानदास की मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को जिला अस्पताल बेमेतरा भेजा। बुधवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। बीते 6 महीने में आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत सड़क हादसे में हो चुकी है।

याद रखें बड़े-बुजुर्गों का ज्ञान, सास ने रात में मोटरसाइकिल पर जाने से मना किया था ज्ञानदास को, पर नहीं माना, मोड़ पर बने डिवाइडर से टकराकर मौके पर मौत

हमें अफसोस: तीन साल की बेटी व छह महीने का बेटा यतीम, गुड़ फैक्टरी में मजदूरी करता था ज्ञान

काश मान जाता : मना करने के एक घंटे बाद आई मनहूस खबर

मृतक ज्ञानदास पुरैना की सास पुष्पा ने बताया कि रात अधिक हो जाने के कारण दामाद को बाइक से जाने के लिए मना किया था। साथ ही उसे रात वहीं ठहर जाने के लिए कहा, लेकिन ज्ञानदास नहीं माना। जहां एक घंटे बाद उनकी मौत की खबर आ गई। इधर मृतक के परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक ज्ञानदास पुरैना गुड़ फैक्ट्री में मजदूरी का काम करता था। उनके दो बच्चे हैं। एक 3 साल की लड़की वहीं दूसरा 6 महीने का पुत्र है।

दुर्घटना की प्रमुख वजह : सड़कों पर लगी स्ट्रीट लाइट 2 साल से बंद

सिमगा से कवर्धा तक एनएच में सड़क निर्माण तो पूर्ण हो चुका है, लेकिन सड़क किनारे बसे गांव में लगाए गए स्ट्रीट लाइट निर्माण के दो साल बीत जाने के बाद भी इसे शुरू नहीं किया गया है। इससे वाहन चालक रात के अंधेरे में पशुओं या सामने से आ रही वाहन से टकरा जाने के कारण भी दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। इसको लेकर न तो पुलिस प्रशासन गंभीर है और न ही एनएच के अधिकारी गंभीरता दिखा रहे हैं। जिसका खामियाजा वाहन चालकों को भुगतना पड़ रहा है। लंबे समय से स्ट्रीट लाइट की मांग की जा रही है।

X
Kawardha News - chhattisgarh news the person behind the incident lesson also injured in the accident reipur reupted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना