--Advertisement--

चुनाव के बाद कर्ज माफी की उम्मीद, केंद्रों में आवक घटी

जिले के 80 केंद्रों में 1 नवंबर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू हुई। चुनाव के बाद कर्ज माफी की उम्मीद से केंद्रों...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:31 AM IST
Kawardha - debt waiver expected after elections decreases in centers
जिले के 80 केंद्रों में 1 नवंबर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू हुई। चुनाव के बाद कर्ज माफी की उम्मीद से केंद्रों में धान की आवक घट गई है।

यही कारण है कि 10 दिन में सिर्फ 1063 किसानों से 44,898 क्विंटल धान खरीदी जा सकी है यानि प्रति किसान 42 क्विंटल की दर से केंद्रों में धान पहुंच रहा है, जो कि वर्ष 2017 की तुलना में कम है। बीते साल 15 नवंबर को खरीदी शुरू हुई थी। पिछले साल महज 10 दिन के अंदर 2123 किसानों से 99,781 क्विंटल धान खरीदी जा चुकी थी, यानि इस अवधि में प्रति किसान 47 क्विंटल की दर से केंद्रों में धान पहुंच चुका था। लेकिन इस बार आवक कम है। क्योंकि मौजूदा समय में चुनाव हो रहा है। पार्टियां किसानों की कर्ज माफी की बात कह रही है। इससे किसानों को उम्मीद जगी है, जिससे वे धान लेकर खरीदी केंद्रों तक नहीं पहुंच रहे हैं। स्थिति ये है कि 10 दिन बाद भी 80 में से 40 खरीदी केंद्र बोहनी को तरस गए हैं।

9.28 करोड़ रु. की धान खरीदी, लिकिंग से वसूले 2.80 रुपए: केंद्रों में अब तक 9.28 करोड़ रुपए की धान खरीदी हुई है। लिंकिंग से 2.80 करोड़ रुपए वसूली की गई है। खास बात ये है कि इस साल मार्कफेड ने बैंक में धान खरीदी व बोनस मिलाकर एडवांस में 6 करोड़ रुपए जमा करा दिया था, ताकि त्योहार से पहले किसानों को भुगतान हो सके। चालू खरीफ विपणन वर्ष में 27 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य निर्धारित हैं।

X
Kawardha - debt waiver expected after elections decreases in centers
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..