--Advertisement--

पांच दिन तक पूजा-अर्चना के बाद देवी प्रतिमाएं विसर्जित हुई

भाईदूज के दूसरे दिन दीपावली पर स्थापित मां लक्ष्मी की प्रतिमाएं पूरी विधि विधान के साथ नदी व तालाबों में विसर्जित...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:31 AM IST
Kawardha - goddess statues were immersed after worshiping for five days
भाईदूज के दूसरे दिन दीपावली पर स्थापित मां लक्ष्मी की प्रतिमाएं पूरी विधि विधान के साथ नदी व तालाबों में विसर्जित की गई। रानी झांसी बालोद्यान के पीछे स्थापित प्रगति गौरा-गौरी व मां लक्ष्मी उत्सव समिति के अध्यक्ष शंकर जायसवाल ने बताया कि धनतेरस के दिन से स्थापित लक्ष्मी देवी की पूज-अर्चना पूरे पांच दिनाें तक की गई। भाईदूज के दूसरे दिन प्रतिमा के साथ शोभायात्रा निकाली गई, जो गायत्री मंदिर चौक, सिग्नल चौक, सीएम निवास, गुरुनानक चौक, महावीर स्वामी चौक, शीतला मंदिर चौक, स्वामी करपात्री चौक होती हुई तालाब में विसर्जन किया गया।

X
Kawardha - goddess statues were immersed after worshiping for five days
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..