• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • वाॅट्सएप ग्रुप में आंदोलन के समर्थन व भड़काने वाले पोस्ट शेयर कर रहे जवान
--Advertisement--

वाॅट्सएप ग्रुप में आंदोलन के समर्थन व भड़काने वाले पोस्ट शेयर कर रहे जवान

राज्यभर में पुलिसकर्मियों के परिजन विभिन्न मांगों काे लेकर 25 जून को राजधानी रायपुर में आंदोलन करने वाले हैं। एसपी...

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 02:30 AM IST
राज्यभर में पुलिसकर्मियों के परिजन विभिन्न मांगों काे लेकर 25 जून को राजधानी रायपुर में आंदोलन करने वाले हैं। एसपी डॉ. लाल उमेंद सिंह की समझाइश के बावजूद जिले के कई पुलिसकर्मी अप्रत्यक्ष रूप से इस आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं। पुलिस वाट्सएप ग्रुप में आंदोलन के समर्थन और इसे भड़काने जैसी पोस्ट शेयर की जा रही है।

सोशल मीडिया में आंदोलन को लेकर विभिन्न तरह के पोस्ट, कमेंट व फेसबुक में आंदोलन संबंधी गतिविधियों को लाइक कर रहे हैं। इन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जबकि पिछले दिनों आंदोलन को समर्थन देने पर विभिन्न राजनीतिक संगठनों के 16 लोगों के खिलाफ पुलिस विद्रोह अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा चुकी है। इसमें 4 रिटायर पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। पुलिस परिवार आंदोलन का असर जिले में भी दिख रहा है। 18 जून को पुलिस परिजनों ने सांसद अभिषेक सिंह से 14 सूत्रीय मांगों को लेकर मुलाकात की थी। इधर एसपी ने 5 दिन में 4 बैठकें लेकर पुलिसकर्मियों को समझाया, वे नहीं मान रहे।

एसपी की सलाह को किया दरकिनार

कवर्धा.आरक्षक रुपेश ने परिजनों के आंदोलन को लेकर पोस्ट किया।

राकेश का फेसबुक पोस्ट शेयर किया

आंदोलन की वजह से बर्खास्त हो चुके सिपाही राकेश यादव को गिरफ्तार किया गया। राकेश पर देशद्रोह, सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान पोस्ट करने व अन्य मामले दर्ज हैं। इस बड़े नेता के पुलिस आंदोलन संबंधी फेसबुक पोस्ट को कबीरधाम जिले के पुलिसकर्मी लाइक व शेयर कर रहे हैं।

आरक्षक बसंत पांडेय ने राकेश यादव के पोस्ट को लाइक किया।

6 बिंदुओं पर जारी की गाइडलाइन

सरकार ने 22 फरवरी 2017 को 6 बिंदुओं पर गाइडलाइन जारी की थी। इसमें शासकीय कर्मचारियों को सोशल मीडिया में व्यवहार का उल्लेख है। कर्मचारी पुलिस परिवार आंदाेलन को लेकर आज भी सोशल मीडिया में न सिर्फ एक्टिव हैं, बल्कि भड़काऊ पोस्ट डाल रहे हैं।

सोशल मीडिया में कमेंट पास कर रहे पुलिसकर्मी

केस 1. जिला पुलिस के आरक्षक बसंत पाण्डेय ने पुलिस परिजन आंदोलन के नेता व बर्खास्त आरक्षक राकेश यादव के पोस्ट काे लाइक व कमेंट किया गया है। राकेश यादव ने 18 जून को फेसबुक अकाउंट पर मांगों को लेकर समर्थन संबंधी पोस्ट किया था, जिसे आरक्षक ने लाइक कर कमेंट किया है।

केस 2. पुलिस विभाग के कर्मचारी अगल-अलग वाट्सअप ग्रुप में एक्टिव हैं। पुलिसकर्मी के एक ग्रुप में आरक्षक रुपेश ने पुलिस परिवार आंदोलन में शामिल होने को लेकर लगातार पोस्ट किया है। इसे लेकर ग्रुप में मौजूद अन्य आरक्षक समर्थन दे रहे हैं।

केस 3. पुलिस परिजनों की मांग को लेकर जेल प्रहरी भी समर्थन दे रहे हैं। पुलिस वाट्सएप ग्रुप में जेल प्रहरी ललित पटेल ने पुलिस आंदोलन की सभी मांग को जायज ठहराया है और आंदोलन का समर्थन किया है।

सीधी बात

कामता दीवान, डीएसपी, कबीरधाम

पुलिस के पक्ष में आंदोलन करना गलत


- उन्होंने पुलिस अधिनियम का पालन नहीं किया। पुलिस के पक्ष में आंदोलन करना गलत है। इस कारण कार्रवाई की गई।


- अभी तक हमारे पास एेसी कोई जानकारी नहीं है। आपके पास प्रमाण होगा, तो दीजिए, कार्रवाई होगी।


- लगातार पुलिसकर्मी को समझाइश दी जा रही है। कई एेसे पुलिसकर्मी की पहचान की है, जो पर्दे के पीछे आंदोलन में शामिल हैं। जल्द ही उन पर कार्रवाई की जाएगी।


- इसे लेकर जिला स्तर पर मॉनिटरिंग की जा रही है।