कवर्धा

  • Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • जिले में लागू नहीं एनटीसीपी, विभाग को पता नहीं कितने हैं मरीज
--Advertisement--

जिले में लागू नहीं एनटीसीपी, विभाग को पता नहीं कितने हैं मरीज

आज विश्व तंबाकू दिवस है। लेकिन जिले में तंबाकू रोग व तंबाकू से जागरूकता को लेकर स्वास्थ्य विभाग एक भी कार्यक्रम...

Danik Bhaskar

May 31, 2018, 02:35 AM IST
आज विश्व तंबाकू दिवस है। लेकिन जिले में तंबाकू रोग व तंबाकू से जागरूकता को लेकर स्वास्थ्य विभाग एक भी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जा सका हैं। जिले की आबादी करीब 8.50 लाख के करीब है, हर साल जिले से कोई न कोई व्यक्ति की तंबाकू सेवन करने से मौत हो जाती है। स्वास्थ्य विभाग के पास तंबाकू से पीड़ित व्यक्ति का आकड़ा मौजूद नहीं है।

विभागीय अफसर बताते हैं कि जिले में एनटीसीपी यानि राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम लागू नहीं है। इसके चलते तंबाकू से संबंधित रोगों का इलाज व जागरूकता कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जा सका है। अफसरों के माने तो एनटीसीपी लागू होने पर जिले को बड़ा बजट मिलता। साथ ही इलाज के लिए सरकारी अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टरों की नियुक्ति किया जाता। वहीं राज्य में केवल रायपुर में ही एनटीसीपी लागू है।

विश्व तंबाकू दिवस आज, पान दुकानों में अब भी बिक रहे तंबाकू रहित गुटखा

कैंसर, दमा, सांस में तकलीफ की मुख्य वजह तंबाकू, दर्जा गुटखा बेचने वालों पर कार्रवाई नहीं

डॉक्टरों के मुताबिक तंबाकू सेवन करने से कई प्रकार की बीमारी होती है। इन बीमारियों के चलते मौत हो सकती हैं। तंबाकू सेवन करने से कैंसर, दमा, सांस में तकलीफ होती है। इनमें दमा व सांस में तकलीफ की शिकायत को शुरुआती दौर में ठीक किया जा सकता हैं। वही कैंसर का इलाज जिले के किसी भी शासकीय अस्पतालों में नहीं है। एनटीसीपी ने 2011-12 में तंबाकू रहित गुटखा को बैन कर दिया। इसे जिले में लागू किया गया है। लेकिन आज भी पान दुकानों में तंबाकू रहित गुटखा बेची जा रही है पर कार्रवाई नहीं हो रही है।

जिले में पहली बार आज होगी संगोष्ठी बीमारी के बारे में जानकारी देंगे डॉक्टर

विश्व तंबाकू दिवस के अवसर पर आज स्वास्थ्य विभाग की ओर से पहली बार संगोष्ठी होगी। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार यह कार्यक्रम सीएमएचओ कार्यालय में सुबह 11 बजे आयोजित की गई है। कार्यक्रम में डॉक्टर तंबाकू से संबंधित रोगों के बारे में जानकारी देंगे। संगोष्ठी के बाद प्रतियोगिता रखी गई है। कार्यक्रम में सीएमएचओ डॉ. अखिलेश त्रिपाठी समेत नगरवासी मौजूद रहेंगे।

सिर्फ सामान्य बीमारी का यहां इलाज



Click to listen..