• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • किसान विराेधी नीति के विराेध में भाकिसं का धरना 18 जून को
--Advertisement--

किसान विराेधी नीति के विराेध में भाकिसं का धरना 18 जून को

मजगांव में रविवार को भारतीय किसान संघ की बैठक हुई। संघ ने शासन के किसान विरोधी नीतियों के विरोध में 18 जून को...

Danik Bhaskar | Jun 11, 2018, 02:40 AM IST
मजगांव में रविवार को भारतीय किसान संघ की बैठक हुई। संघ ने शासन के किसान विरोधी नीतियों के विरोध में 18 जून को बेमेतरा के मंडी प्रांगण में धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। बैठक में छिरहा व दाढ़ी क्षेत्र के 60-65 गांवों के लगभग 200 किसान शामिल हुए।

बैठक में किसानों ने कहा कि फसलों का समर्थन मूल्य पर खरीदी नहीं होने व सूखाग्रस्त क्षेत्र घोषित होने के बावजूद बीमा व सूखा राहत राशि नहीं मिला है। जो किसानों के साथ विश्वासघात है। किसानों ने कहा कि किसानों की जरुरत के सामान महंगी एवं हमारी फसलों की कीमत सस्ती क्यों है। शासन बीज, खाद एवं दवाई में हर साल मूल्य वृद्धि करता है। लेकिन फसलों का दाम कम किया जा रहा है। फसलों का सही रेट नहीं मिलने के कारण किसानों की कमर टूट गई है। वे अपने बच्चों की पढ़ाई एवं अन्य जरूरतें पूरी नहीं कर पा रहे हैं। यहां तक कि इलाज के लिए भी उन्हें कर्ज लेना पड़ रहा है। बैठक में भारतीय किसान संघ के कवर्धा जिला अध्यक्ष दानेश्वर सिंह परिहार, कार्यकारिणी सदस्य आशीष तिवारी, शेखर ठाकुर, तुकाराम परगनिहा, प्रभु गोस्वामी, मन्नू चंद्राकर कठौतिया, विश्वराज सिंह बैहरसरी, दिनेश जायसवाल छिरहा, ईश्वर चंद्रवंशी, संतोष साहू, अशोक चंद्रवंशी, जवाहर सिंह, संजय सिंह आदि मौजूद रहे।

संघ के जिलाध्यक्ष कवर्धा दानेश्वर सिंह परिहार ने शासन की नीति काे किसान विरोधी करार देते हुए पुरजाेर विरोध करने का आह्ववान किया है। उन्होंने कहा कि शासन ने चने का समर्थन मूल्य 4400 रुपए करने का आश्वासन दिया था। लेकिन आज किसान 27-2800 रुपए में बेचने मजबूर हैं। जिससे किसान परेशान हैं।

छिरहा.बैठक के दौरान मौजूद पदाधिकारी व सदस्य।