• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • 52 हजार किसानों को नहीं मिला क्लेम, जोगी कांग्रेस ने कलेक्टोरेट घेराव करने तोड़ा बेरीकेट
--Advertisement--

52 हजार किसानों को नहीं मिला क्लेम, जोगी कांग्रेस ने कलेक्टोरेट घेराव करने तोड़ा बेरीकेट

फसल बीमा के लिए बैंकों ने प्रीमियम राशि तो काट ली, लेकिन सूखे के बाद भी 52 हजार किसानों को क्लेम नहीं दिया है। इस बात...

Danik Bhaskar | Jun 15, 2018, 02:40 AM IST
फसल बीमा के लिए बैंकों ने प्रीमियम राशि तो काट ली, लेकिन सूखे के बाद भी 52 हजार किसानों को क्लेम नहीं दिया है। इस बात से नाराज जनता कांग्रेस छग (जोगी) कार्यकर्ताओं ने गुरुवार शाम 3.30 बजे कलेक्टोरेट का घेराव कर दिया। घेराव के दौरान बेरीकेड्स तोड़ दिए। यहां तक कि पुलिस से भी भिड़ गए।

धक्का- मुक्की के बीच सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी हुई। करीब 20 मिनट तक प्रदर्शन हुआ। इसके बाद मांगों को लेकर नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया। इससे पहले भारतमाता प्रतिमा स्थल पर जोगी कांग्रेसियों ने सभा ली। सभा में पहुंची जोगी कांग्रेस प्रमुख ऋचा जोगी ने सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रमन सरकार ने बैंकों के जरिए फसल बीमा के नाम पर 65,188 किसानों से 7.24 करोड़ रुपए प्रीमियम लिया। लेकिन सूखे से फसल बर्बाद होने पर भी 52 हजार किसानों को क्लेम ही नहीं दिया। राशन बंद करने का दबाव डालकर शाैचालय बनवाए, प्रोत्साहन राशि ही नहीं दे रहे हैं। कलेक्टर से लेकर सीएम तक आवेदन देने पर सुनवाई नहीं हो रही है।

बीमा का प्रीमियम काटने के बाद भी प्रबंधन गंभीर नहीं

कवर्धा.कलेक्टोरेट घेराव के दौरान बेरीगेट तोड़ते जोगी कांग्रेसी, पुलिस से धक्का-मुक्की।

14 साल राज किया पर कर्म तो दिखा ही नहीं: देवव्रत

सभा में पहुंचे जोगी कांग्रेस के देवव्रत सिंह ने ने कहा के सीएम रमन सिंह कहते हैं कि कवर्धा उनकी कर्मभूमि है। सरकार में रहते उन्हें 14 साल हो गए, लेकिन कर्म तो दिखा ही नहीं। कवर्धा में मेडिकल कॉलेज और डीएड-बीएड कॉलेज खोलने वर्षों से मांग की जा रही है। उसे भी पूरा नहीं किया। जोगी कांग्रेस ने सरकार की किसान विरोधी नीतियों की भी निंदा करते हुए जमकर नारेबाजी की आक्रोश भी दिखाया।

किसानों के हित में यह 8 मांगें जिनके लिए किया आंदोलन

सूखा प्रभावित किसानों को क्लेम रािश, शौचालय निर्माण का भुगतान, दलदली में अधिग्रहित जमीन पर खोदाई के बाद अनुबंध के अनुसार समतलीकरण, वनवासियों को वनाेपज का उचित मूल्य दिलाने, तहसीलों में पेंडिंग राजस्व प्रकरणों के निराकरण, ग्रामीण क्षेत्रों में खस्ताहाल सड़कों काे सुधारने संबंधी 8 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन किया गया। प्रदर्शन में जिलाध्यक्ष अगमदास अनंत, सुनील केशरवानी, वाल्मीकि वर्मा, रवि चंद्रवंशी, आनंद सिंह आदि कार्यकर्ता शामिल हुए।

खस्ताहाल सड़कें: एनएसयूआई ने किया सीएमओ का पुतला दहन

कवर्धा.सीएमओ का पुतला जलाते एनएसयूआई कार्यकर्ता।

कवर्धा|शहर के दर्री पारा में खस्ताहाल सड़क, नुक्कड़ में जमा कचरों और शारदा संगीत महाविद्यालय की संबद्धता खत्म होने से नाराज एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को प्रदर्शन किया। दर्री पारा में दोपहर 3 बजे कार्यकर्ताओं ने सीएमओ और नपा अध्यक्ष का पुतला जलाया।

नारेबाजी करते हुए कार्यकर्ताआें ने कहा कि मुख्यमंत्री विकास यात्रा निकालकर विकास की बातें करते हैं। हकीकत में उनके ही गृहनगर कवर्धा के दर्री पारा में सड़क खराब है। वार्डों में रेगुलर सफाई नहीं होने से नुक्कड़ में 2-3 दिन तक कचरा पड़ा रहता है। जिस शारदा संगीत महाविद्यालय में बच्चे नृत्य व संगीत सीखते हैं, उसकी भी संबद्धता छिन गई है। तालाब सौंदर्यीकरण का भी काम अधूरा है। प्रदर्शन में एनएसयूआई अध्यक्ष विकास केशरी समेत अन्य कार्यकर्ता शामिल रहे।

नहीं बनी सड़क: दर्री पारा में जिस खस्ताहाल सड़क के लिए प्रदर्शन हुआ, उसके नवनिर्माण के लिए 4 महीने पहले स्वीकृति मिल चुकी है। 38 लाख से इस सड़क का निर्माण किया जाना है। नपा के खाते में राशि पहुंच चुकी है, काम शुरू नहीं हुआ।