--Advertisement--

8 स्कूलों में होगी अंग्रेजी से पढ़ाई

कबीरधाम जिले के 8 सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी। कवर्धा समेत सभी चारों ब्लॉक मुख्यालय में 1-1...

Danik Bhaskar | Jun 17, 2018, 02:40 AM IST
कबीरधाम जिले के 8 सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी। कवर्धा समेत सभी चारों ब्लॉक मुख्यालय में 1-1 प्राइमरी व मिडिल स्कूलों को अपग्रेड किया गया है। 18 जून को नए शिक्षा सत्र के साथ ही इन स्कूलों में भी कक्षा पहली और 6वीं में अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई के लिए 40-40 सीटों के लिए दाखिले शुरू होंगे।

कवर्धा के प्रमुख प्राथमिक व आदर्श कन्या मिडिल स्कूल को अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई के लिए अपग्रेड किया जा चुका है। इसी तरह बोड़ला, पंडरिया और सहसपुर लोहारा ब्लॉक मुख्यालय के 1-1 प्राइमरी व मिडिल स्कूल का चयन हो चुका है, जहां इस सत्र में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी। अफसरों की मानें तो जिनके बच्चे प्राइवेट स्कूल में हैं, वे उन्हें इस स्कूल में दाखिला दिला सकते हैं। फायदा ये होगा कि उन्हें महंगे फीस से छुटकारा मिल सकेगा। चार प्राइमरी व 4 मिडिल स्कूलों में क्रमश: पहली में 40 और 6वीं में 40 सीट यानि 320 बच्चों को दाखिला दिया जाएगा। इसके लिए करीब 3 हजार किताबों की जरूरत पड़ेगी। दोनों कक्षाओं में एनसीईआरटी (राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद) के सिलेबस से पढ़ाई होगी। पाठ्य पुस्तक निगम (पापुनि) को किताबों का आर्डर दिया जा चुका है।

कक्षा पहली और 6वीं में 40-40 सीटों के लिए दाखिला कल से शुरू

शिक्षकों की सूची बनी, जल्द होगी इनकी ट्रेनिंग

सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूलों में पढ़ाने के लिए 28 शिक्षकों की सूची तैयार कर ली गई है। प्राइमरी में 3-3 और मिडिल में 4-4 शिक्षकों की तैनाती होगी। एनसीईआरटी की मदद से इन शिक्षकों को जल्द ही ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग के दौरान बच्चों को अंग्रेजी में पढ़ाने, उच्चारण और बॉडी लैंग्वेज सुधारने पर जोर दिया जाएगा।

वो सबकुछ, जो आपको जानना जरूरी है..

इस सत्र चयनित स्कूलों में कक्षा पहली व 6वीं में ही अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी। जो बच्चे दूसरी में हैं, वे हिंदी माध्यम से तो बढेंगे ही, शिक्षक उन्हें अंग्रेजी माध्यम से भी पढ़ना सिखाएंगे। पहली में एक शिक्षक क्लास ले रहे हैं तो दूसरा व तीसरा शिक्षक अन्य कक्षाओं में पढ़ा सकेंगे।

स्कूलों में हो चुकी है शिक्षकों भी नियुक्ति