Hindi News »Chhatisgarh »Kawardha» दर्जनों गांवों में 1 दिन से बिजली बंद, पेयजल संकट

दर्जनों गांवों में 1 दिन से बिजली बंद, पेयजल संकट

पंडरिया ब्लॉक के सुदूर वनांचल गांवाें में गुरुवार की दोपहर को तेज बारिश के साथ ही बिजली गुल हो गई। उसके बाद से...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 02:45 AM IST

पंडरिया ब्लॉक के सुदूर वनांचल गांवाें में गुरुवार की दोपहर को तेज बारिश के साथ ही बिजली गुल हो गई। उसके बाद से दूसरे दिन शुक्रवार की शाम तक बिजली नहीं आई है। क्षेत्र में 28 घंटे से बिजली नहीं है। जिससे लोग परेशान है। वे पेयजल आपूर्ति और व्यवसाय के साथ दिनचर्या भी बुरी तरह प्रभावित हो रही है।

ग्रामीण क्षेत्र में दो दिनों से बिजली नहीं है। जपेयजल के साथ मोबाइल भी चार्ज भी नहीं होने से लोग परेशान हैं। उमस भरी गर्मी से लोग हलाकान हैं।सबस्टेशन कुई के लाइन मेन द्वारका वर्मा ने बताया कि पंडरिया से कुकदुर रास्ते में हवा पानी के चलते बिजली पोल पर पेड़ गिर गया है। रात में बना रहे थे। लेकिन नहीं बन पाया। इसके अलावा जगह जगह और पेड़ गिरा है, उसे भी काट रहे हैंं। देर रात तक कुई कुकदुर में ही लाइन चालू हो पाया है, जबकि दमगढ़, नेउर, महिडबरा, पोलमी, अमनिया, घोघरा, बदना, बादहल्ला, कुशयारी, अमलीटोला, बरटोला, परसाटोला, सेमराटोला आदि गांवों में शुक्रवार को बिजली नहीं आई है। महिडबरा व सेमराटोला के शिवकुमार, विजय सोनवानी और ग्रामीणों ने बताया कि सबसे अधिक पेयजल की परेशानी हो गई है।

गर्म रहा दिन, 45 डिग्री पहुंचा पारा शाम होते-होते कवर्धा में हुई बूंदाबांदी

कवर्धा|पिछले एक सप्ताह से कवर्धा शहर का तापमान 43 और 44 डिग्री सेल्सियस के बीच बना हुआ था। जो शुक्रवार को एक डिग्री बढ़कर 45 तक जा पहुंचा। हालांकि, 17 मई से ही तापमान 43 डिग्री सेल्सियस के ऊपर बना हुआ है। शुक्रवार को तापमान के अचानक बढ़ने का कारण पश्चिमी गर्म हवाओं को बताया जा रहा है। हालांकि, देर शाम 40 किलोमीटर प्रति घंटे के रफ्तार से हवाएं चलने लगीं। बताया जाता है कि पंडरिया व सहसपुर लोहारा में भी तेज हवाएं चलीं। लोहारा में जमकर बारिश के जानकारी सामने आई है।

चक्रवात और द्रोणिका के कारण तेज हवा और बारिश:-सहायक मौसम वैज्ञानिक पीएल देवांगन के मुताबिक वर्तमान में एक ऊपरी चक्रवात व एक द्रोणिका बनी हुई है। इसके साथ ही लोकल सिस्टम का अपना प्रभाव भी है। उन्होंने बताया कि उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश से लेकर दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश तक ऊपरी चक्रवात बना है। इसका असर तेलंगाना तक भी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kawardha

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×