• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Kawardha
  • हल उठाकर सीएम ने किसानों के खातों में भेजा 42 करोड़ धान बोनस, बोले-यह तो सेमीफाइनल
--Advertisement--

हल उठाकर सीएम ने किसानों के खातों में भेजा 42 करोड़ धान बोनस, बोले-यह तो सेमीफाइनल

भास्कर न्यूज | कवर्धा/ पंडरिया विकासयात्रा के पहले चरण में पंडरिया पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जहां...

Dainik Bhaskar

May 28, 2018, 02:45 AM IST
हल उठाकर सीएम ने किसानों के खातों में भेजा 42 करोड़ धान बोनस, बोले-यह तो सेमीफाइनल
भास्कर न्यूज | कवर्धा/ पंडरिया

विकासयात्रा के पहले चरण में पंडरिया पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जहां किसानों को साधने की कोशिश की, वहीं कांग्रेस पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने पंडरिया के मंच से प्रदेशभर के किसानों की सिंचाई से जुड़ी तीन बड़ी घोषणाएं की। साथ ही कवर्धा के 45 हजार किसानों के खातों में लगभग 42.70 करोड़ रुपए बोनस भी भेजा। उन्होंने कहा कि अभी सेमीफाइनल में आया हूं, फिर सितंबर में आऊंगा। सीएम ने कांग्रेसियों को लेकर कहा कि 60 साल तक राज करने वाले आज विकास तलाश रहे हैं, उन्हें शर्म आनी चाहिए।

सीएम ने पंडरिया क्षेत्र के लिए 115 करोड़ 53 लाख रुपए के 242 निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने 31 करोड़ 13 लाख के पूरे हो चुके 200 से ज्यादा निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया और 84.40 करोड़ के 42 नए कार्यों का भूमिपूजन किया। उन्होंने 72 हजार 335 लोगों को 49.22 करोड़ की सामग्री व सहायता राशि बांटी। इस अवसर पर मंत्री महेश गागड़ा, सांसद अभिषेक सिंह, विधायक मोतीराम चंद्रवंशी, विधायक अशोक साहू, डॉ. सियाराम साहू, बिशेषर पटेल, संतोष पटेल, संजय श्रीवास्तव, विजय शर्मा, रामकुमार भट्ट, अजीत चंद्रवंशी, भेलीराम चंद्रवंशी, अनिल सिंह, प्रज्ञेश तिवारी मौजूद रहे।

प्रदेश के किसानों को रिझाने ये तीन घोषणाएं

1. अब सिंचाई पंप में फ्लैट रेट में बिजली बिल का भुगतान कर सकेंगे। पहले पांच हार्स पावर के एक पंप में 7500 यूनिट बिजली तक की छूट रहती थी।

3. 5 हार्स पावर पंप के लिए राज्य सरकार ने फिर से पंप उर्जीकरण की अनुदान योजना फिर से शुरू कर दी है। पहले सरकार 5 हार्स पावर तक के पंप लगाने के लिए 1 लाख रुपए तक अनुदान राशि दी जाती थी। इसे बंद कर दिया गया था, अब किसान फिर आवेदन कर पाएंगे।

कवर्धा. किसान नेताओं के साथ हल उठाए हुए सीएम डॉ. रमन सिंह।

2. पहले सिर्फ एक पंप पर ही छूट मिला करती थी। लेकिन अब अन्य पंपों पर भी फ्लैट रेट में भुगतान की छूट मिलेगी। ये पहले 5 हार्स पावर के एक पंप पर मिलती थी।

विश्लेषण: सीएम का 24 मिनट का भाषण यूं ऐसे समझिए

दोपहर 12.33 बजे से लेकर 12.57 बजे तक कुल 24 मिनट के अपने भाषण में मुख्यमंत्री ने अपने राजनीति की शुरुआत से लेकर क्षेत्र की गरीबी, पिछड़ापन और भाजपा की सरकार में हुए विकास का पूरा मूल्यांकन कर दिया। कांग्रेस को जमकर खरी-खरी सुनाई और अपने सुपुत्र व सांसद अभिषेक सिंह और विधायक मोतीराम चंद्रवंशी की तारीफ भी कर दी।

कार्यकर्ताओं के लिए, क्योंकि वे ही माहौल बनाएंगे : कितनी ही बार पंडरिया आया, लेकिन आज की सभा अभूतपूर्व है। 1980 से अब तक कितने ही बार यहां आया। पंडरिया विधानसभा का ऐसा कोई गांव नहीं, जहां से लोग न पहुंचे हों।

60 साल बनाम 14 साल के विकास के लिए : एक-एक गांव को जानता हूं, 12 लोग इस क्षेत्र में जीप में बैठकर यात्रा करते थे। कुंडा तक के रोड को धूलभरी रोड कहते थे। जहां जाना हो, वहां पहुंचने के बाद धूल से पता नहीं चलता था, कि कौन बैठा है। अब देखिए चमचमाती सड़कें हैं।

कांग्रेस के लिए, क्योंकि प्रमुख विपक्षी पार्टी वही : 60 साल राज किया कांग्रेस ने। उन्हें शर्म आनी चाहिए, कि वे विकास ढूंढने निकले हैं। घरों में चिमनी जलती थी। 60 साल आपने जो किया वह विकास है या अब जो हो रहा है, वह विकास है।

सांसद और विधायक के लिए: विधायक मोतीराम चंद्रवंशी व सांसद अभिषेक सिंह काम गिना रहे थे। लंबी लिस्ट थी। पढ़ते-पढ़ते नई परियोजना के बारे में सोच पैदा करना सांसद के काम को बताती है। हमारी सरकार ने एक रुपए किलो चावल दिया।

स्थानीय संबंधों पर, ताकि भावनात्मक तौर पर जुड़ सकें: आपके मान-सम्मान से मेरा नाम जुड़ा है। जब मेरा नाम लिया जाता है, तो कहते हैं कि डॉ. रमन कबीरधाम से आते हैं। मैंने आपके साथ खाना खाया। मैंने गुड़ खाया, गन्ने का रस पीया है।

X
हल उठाकर सीएम ने किसानों के खातों में भेजा 42 करोड़ धान बोनस, बोले-यह तो सेमीफाइनल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..