• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Kawardha
  • 6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
--Advertisement--

6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल

Kawardha News - केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने मंगलवार को कक्षा 10वीं के नतीजे जारी किए। जिले के 6 स्कूलों में से 4 का...

Dainik Bhaskar

May 30, 2018, 02:45 AM IST
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने मंगलवार को कक्षा 10वीं के नतीजे जारी किए। जिले के 6 स्कूलों में से 4 का परीक्षा परिणाम सौ फीसदी रहा। खास बात यह है कि जिन 495 बच्चों ने परीक्षा दी थी, उनमें से 374 फर्स्ट डिवीजन से पास हुए हैं। सिर्फ 4 फीसदी बच्चे ही या तो सेप्लीमेंट्री आए हैं या फिर फेल हुए हैं।

जवाहर नवोदय विद्यालय (जेएनवी) उड़ियाकला के छात्र अंकित चंद्राकर ने सर्वाधिक 93.80 फीसदी अंक हासिल किया है। वहीं गुरुकुल पब्लिक स्कूल महराजपुर में 93 फीसदी अंक के साथ अंकुश जैन, श्रीरामकृष्ण पब्लिक स्कूल के छात्र सुभम सिंह ठाकुर 91% के साथ टॉपर रहा है।

122 प्राइवेट स्कूलों में से 6 में ही होती है सीबीएसई पढ़ाई: जिले में 122 प्राइवेट स्कूल हैं, इनमें से 6 में ही सीबीएसई 10वीं की पढ़ाई होती है। इसमें भी एक जवाहर नवोदय स्कूल शामिल है।

इस वर्ष इन स्कूलों से 495 बच्चों ने सीबीएसई 10वीं की परीक्षा दिलाई थी। गुरुकुल पब्लिक स्कूल से सर्वाधिक 86 व श्रीरामकृष्ण पब्लिक स्कूल से 50 बच्चों ने एग्जाम दिलाया था।

सीबीएसई 10वीं के नतीजे

अंकुश जैन

93%

गुरुकुल पब्लिक स्कूल, महराजपुर

अंकित चंद्राकर

जवाहर नवोदय विद्यालय, उड़ियाकला

परीक्षा पैटर्न में बदलाव से ओवरऑल नतीजे अच्छे

सीबीएसई ने इस साल परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया था, जिससे स्कूलों का ओवरऑल रिजल्ट तो अच्छा रहा, लेकिन बच्चों के अंकों में गिरावट आई है। बता दें कि सीबीएसई 10वीं में दो एग्जाम लेता है। इसे असेसमेंट 1 और असेसमेंट- 2 कहते हैं। इसमें 50% कोर्स इनहाउस अर्धवार्षिक के रूप में लिया जाता है। जबकि बाकी 50% कोर्स के साथ सीबीएसई फाइनल एग्जाम लेता था। इनहाउस एग्जाम में स्कूल के शिक्षक ही प्रश्नपत्र तैयार करते थे, इसलिए इस साल नए पैटर्न में परीक्षा ली गई। इसके तहत 100 फीसदी कोर्स से परीक्षा ली गई।

जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र हैं अंकित, सबसे ज्यादा 86 छात्र गुरुकुल पब्लिक स्कूल से शामिल

शुभम सिंह ठाकुर

91%

श्रीरामकृष्ण पब्लिक स्कूल सिंघनपुरी

93.80%

ख्याति वर्मा

88.5%

अभ्युदय स्कूल कवर्धा

भुवनेश्वर रीजन के 5 वर्ष के परिणाम...

वर्ष लड़के लड़कियां कुल प्रतिशत

2013 29343 20715 50058 99.37

2014 32087 22572 54659 99.31

2015 33261 23659 56920 97.15

2016 38123 27059 65182 96.26

2017 - - - -

2018 39436 29392 68828 89.27

(आंकड़े - सीबीएसई की वेबसाइट से)

भुवनेश्वर रीजन में कक्षा दसवीं में पिछले 5 साल में 10.1 फीसदी गिरे परिणाम

इस साल भुवनेश्वर रीजन के परिणाम में भी काफी गिरावट दर्ज की गई है। इस साल रीजन का अोवर�’ल परिणाम 89.27 फीसदी रहा, जो वर्ष 2013 से 10.1 प्रतिशत कम है। वहीं रीजन का परिणाम देशभर के एवरेज से 2.57 प्रतिशत अधिक है। इस साल भुवनेश्वर रीजन में कुल 77099 परीक्षार्थियाें ने दसवीं की परीक्षा दी, जिसमें से 68828 बच्चे पास हुए। सफल परीक्षार्थियों में लड़कियों की संख्या अधिक है। इस साल भुवनेश्वर रीजन में 91.36 फीसदी लड़कियां और 87.77 फीसदी लड़के सफल रहे।

त्रिलोक सिंह

84%

शेमफोर्ड फ्यूचरिस्टिक स्कूल, तालपुर

सना फातिमा

84.8%

होली किंग्डम स्कूल, कवर्धा

बेमेतरा जिले में 85 फीसद विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में

समीक्षा शर्मा

बेमेतरा|यहां एकेडेमिक वर्ल्ड स्कूल के दसवीं के सीबीएसई की परीक्षा में 85 प्रतिशत विद्यार्थी प्रथम रहे। 153 विद्याथिर्यों ने परीक्षा दी। यहां जिला टाॅपर मिथलेश बंजारे सामाजिक विज्ञान में शत प्रतिशत अंक लाए।

समीक्षा और मिथलेश ने जिले में किया टाॅप, देव रहे दूसरे स्थान पर: एकेडमिक वर्ल्ड स्कूल बेमेतरा का कक्षा दसवीं का यह चौथा बैच था। विद्यालय में प्रथम स्थान समीक्षा शर्मा ने 96.4 प्रतिशत (अंग्रेजी-96, हिन्दी-98, गणित-95, विज्ञान-93, सामाजिक विज्ञान-100 तथा अतिरिक्त विषय कंम्प्यूटर में 98 अंक प्राप्त किए), एक और विद्यार्थी मिथलेश बंजारे 96.4 प्रतिशत अंक के साथ प्रथम स्थान पर रहा।

आईएएस बनना चाहती हैं समीक्षा, कहा-रटने की बजाए विषयों को गढ़ने में विश्वास: जिले की टाॅपर समीक्षा शर्मा ने 96.4 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है। समीक्षा ने बताया कि वह सिविल सर्विसेस कर आईएएस बनना चाहती है। उसने कहा कि वह रटने की बजाए विषयो को गढ़ने में विश्वास रखती है। समीक्षा बेमेतरा निवासी रामकुमार शर्मा की बेटी हैं।

उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थी: सुमीत कुमार पात्रे 93.6 प्रतिशत, तारेश देवांगन 93 प्रतिशत, शुभाशीष मिश्रा 93 प्रतिशत, साहिल देवांगन 92.8 प्रतिशत, आयुषी सलूजा 92.6 प्रतिशत, योगराज राजपूत 91.8 प्रतिशत, पारस जैन 90.6 प्रतिशत, कुशल लुनिया 90.2 प्रतिशत, सौम्य साहू 90 प्रतिशत, ज्ञानेश कोठारी 89.4 प्रतिशत है।

मिथलेश बंजारे

देव मित्तल

6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
X
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
6 में से 4 स्कूलों का परिणाम सौ प्रतिशत 374 फर्स्ट डिवीजन, 4 प्रतिशत ही फेल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..