• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • पुलिस परिवार आंदोलन में जोगी कांग्रेसी कूदे, 25 की गिरफ्तारी
--Advertisement--

पुलिस परिवार आंदोलन में जोगी कांग्रेसी कूदे, 25 की गिरफ्तारी

पुलिस परिवार के आंदोलन में अब जनता कांग्रेस छग (जोगी) भी शामिल हो गई है। पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं ने बुधवार को...

Danik Bhaskar | Jun 21, 2018, 02:45 AM IST
पुलिस परिवार के आंदोलन में अब जनता कांग्रेस छग (जोगी) भी शामिल हो गई है। पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं ने बुधवार को महावीर स्वामी चौक कवर्धा में पुलिस आंदोलन को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाया। पुलिस ने भी फौरी कार्रवाई की और 25 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया, इनमें से 14 को जेल भेज दिया है। इनके खिलाफ धारा- 3 के तहत कार्रवाई की गई।

खास बात ये है कि हस्ताक्षर अभियान के दौरान कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने आई पुलिस के साथ उनकी बहस हो गई। ड्यूटी में तैनात डीएसपी कामता दीवान ने इस आंदोलन में किसी भी पुलिसकर्मी के शामिल नहीं हाेने व उनकी कोई भी मांग नहीं होने की बात कही। पकड़े गए कार्यकर्ताओं को शाम 5 बजे जिला जेल ले जाया गया है।

पुलिस की समस्या उठाने का नहीं नियम : कोतवाली थाना प्रभारी एचपी पाण्डेय बताते हैं कि पुलिस अधिनियम के मुताबिक पुलिस व अार्मी की समस्या को लेकर कोई भी व्यक्ति या संगठन मांग नहीं कर सकता है। पुलिस अधिनियम- 1922 में इसकी व्याख्या की गई है। यही कारण है कि 4 रिटायर पुलिसकर्मी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कोर्ट में पेश किया गया था। अब जोगी कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

पुलिस का आंदोलन : सख्त हुए आला अफसर, कार्रवाई के लिए डटे

कवर्धा.हस्ताक्षर अभियान चलाते जोगी कांग्रेसी, महावीर स्वामी चौक से नेताओं को गिरफ्तार किया।

आंदोलन में पुलिसकर्मी तो नहीं, इंटेलीजेंस की मदद

जिले के पुलिसकर्मी इस आंदाेलन में शामिल न हों, इसलिए एसपी ऑफिस से अपने ही जवानों पर नजर रखी जा रही है। इंटेलीजेंस विंग पुलिसकर्मी व उनके परिजन पर नजर रख रही है। विशेषकर सोशल मीडिया में भी नजर गड़ाए हुए हैं। क्योंकि विभाग को शक है कि कई आरक्षक सोशल मीडिया में मांग संबंधी पोस्ट शेयर कर रहे हैं। ऐसे पोस्ट का स्क्रीनशॉट लेकर कुंडली तैयार की जा रही है। ऐसा करने वाले पुलिसकर्मियों पर निकट भविष्य में अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

मांगों को उचित फोरम पर रखने के लिए दिए सुझाव

पुलिस कर्मियों व परिजनों को शाम को एसपी कार्यालय में बुलवाया गया था। हालांकि एसपी उस समय उपस्थित नहीं थे। कोतवाली थाना प्रभारी एसपी पाण्डेय ने बताया कि परिजनों को अपनी मांगें उचित फोरम पर रखने सुझाव दिया गया। पाण्डेय के मुताबिक आईजी दुर्ग रेंज ने आरक्षकों की तबादला सूची जारी की है। इन्होंने महीनों पहले इसके लिए आवेदन किया था। इसमें कबीरधाम जिले के 7 आरक्षकों का तबादला किए जाने की जानकारी है।

जिले में पुलिसकर्मियों की स्थिति ठीक नहीं

जिले में जिला बल में 1100 और 17वीं बटालियन में 1 हजार से अधिक पुलिसकर्मी हैं, जिनकी स्थिति ठीक नहीं है। वेलफेयर को लेकर कोई काम नहीं किया जा रहा है। जिले में पुलिस कर्मी के बच्चों के लिए विशेष स्कूल, पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी, अस्पताल नहीं है। वहीं वेलफेयर को लेकर एकमात्र पुलिस दुकान क्राइम ब्रांच कार्यालय के पास खुली। यहां हर सामान पर 50 से 90 पैसा तक छूट दिया जाता है।

ये है पुलिस परिजन की मांग, इनसे लगाई गुहार

मांगों में पौष्टिक आहार भत्ता 100 रुपए से बढ़ाकर 3000 रुपए प्रतिमाह करने, मेडिकल भत्ता 200 से बढ़ाकर 2000 रुपए, मोबाइल भत्ता 500 रुपए प्रतिमाह देने, वर्दी धुलाई भत्ता 60 रुपए की जगह 500 रुपए प्रतिमाह करने, साइकिल भत्ता बंद कर मोटर साइकिल भत्ता 3 हजार रुपए प्रदान करने, किट पेटी भत्ता मप्र की तर्ज पर बंद करने, उसके एवज में रकम देने, राशन मनी 3050 रुपए करने, आवास भत्ता 6 हजार रुपए देने के अलावा अन्य मांगें शामिल हैं।

कार्रवाई की जाएगी