--Advertisement--

गुरु महिमा का पाठ कर मनाया प्राकट्य उत्सव

कवर्धा. कवर्धा में महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली। भास्कर न्यूज | कवर्धा/बोडला लोक कल्याण में अपना संपूर्ण जीवन...

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 02:45 AM IST
कवर्धा. कवर्धा में महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली।

भास्कर न्यूज | कवर्धा/बोडला

लोक कल्याण में अपना संपूर्ण जीवन समर्पित करने वाले संत कबीरदास जी की जयंती गुरूवार मनाई गई। इस मौके पर बोड़ला के कबीर कुटी में सभी कबीर पंथियों ने गुरू महिमा का पाट कर प्राकट्य उत्सव की शुरूआत की। महंत लाला दास ने विधिविधान से चौका आरती कर कबीर साहेब की स्तुति की। इसके साथ ही कबीर पंथी धर्मावलंबियों ने कबीर के तैल चित्र को रथ में सुसज्जित कर शोभा यात्रा निकाली।

महंत लाला दास ने कहा कि गागर में सागर भरने की कला संत कबीर से अच्छा भला कौन जानता है। महंत ने गुरू महिमा में बताया कि कबीर हर युग को प्रेरित करने वाले,भक्ति काल के सबसे सफल और प्रिय कवि रहे है। उन्होंने कहा कबीर अपने समय के सबसे बड़े समाज सुधारक थे और भक्ति आंदोलन के प्रवर्तक रहे है। इस दाैरान डॉ.रूपनाथ मानिकपुरी,रामजी दास मानिकपुरी, संदीप मानिकपुरी, दानीदास मानिकपुरी, नरेंद्र मानिकपुरी समाज के लोग उपस्थित रहे।

नगर के वीर सावरकर भवन में हुआ कार्यक्रम, 5 सौ से अधिक लोग हुए शामिल: कवर्धा मे कबीरदास जी का प्राकट्य दिवस के अवसर पर कबीर चबूतरा कैलाश नगर से शोभायात्रा निकाली गई, जो नगर भ्रमण करते हुए लोहारा नाका,सिंग्नल चौक,सराफा लाईन,ठाकुरपारा सभा स्थल वीर सावरकर भवन पहुंची।

संत समागम कार्यक्रम मे सभी समाज के धर्मगुरु शामिल हुए और सतगुरु कबीर साहेब के जीवन पर चर्चा की।