Hindi News »Chhatisgarh »Kawardha» जिन कार्यों को पीडब्ल्यूडी शुरू नहीं कर सका, उसे पूरा करेगा आरईएस

जिन कार्यों को पीडब्ल्यूडी शुरू नहीं कर सका, उसे पूरा करेगा आरईएस

जिला निर्माण समिति के तहत स्वीकृत विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए पीडब्ल्यूडी को निर्माण एजेंसी बनाया गया है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 03, 2018, 02:50 AM IST

जिला निर्माण समिति के तहत स्वीकृत विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए पीडब्ल्यूडी को निर्माण एजेंसी बनाया गया है। लेकिन स्वीकृत विभिन्न कार्यों को प्रारंभ करने में अधिक समय लग रहा है। इसलिए इन स्वीकृत कार्यों को पूरा करने के लिए अब आरईएस विभाग को निर्माण एजेंसी बनाने का फैसला लिया है।

शुक्रवार को कलेक्टोरेट में हुए जिला निर्माण समिति की बैठक में कलेक्टर अवनीश शरण ने ये निर्णय लिया। उन्होंने खनिज न्यास संस्थान के तहत स्वीकृत निर्माण कार्यों की समीक्षा भी की। बताया कि जिले में खनिज न्यास संस्थान से 21.51 करोड़ रुपए से 161 निर्माण कार्य स्वीकृत हैं। इनमें से 26 काम पूरे हो चुके हैं, जबकि 134 निर्माणाधीन है। इन कार्यों को गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूरा करने कलेक्टर ने निर्देश दिए हैं। नगर पंचायत पिपरिया में मंगल भवन निर्माण स्वीकृत कार्य को स्थान अभाव के कारण निरस्त करने की जानकारी दी गई। कलेक्टर ने जिला निर्माण समिति के तहत स्वीकृत सभी प्रगतिरत, पूर्ण कार्य और अपूर्ण कार्यों की समीक्षा करते हुए प्रगतिरत निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने सकरी नदी के निर्माणाधीन रिटर्निंग वॉल, समनापुर पुल से बुढ़ा महादेव मंदिर पहुंच मार्ग, सौंदर्यीकरण कार्य, कन्या कॉलेज में प्रयोगशाला कक्ष निर्माण कार्य जल्द पूरा कराने के निर्देश दिए हैं। बैठक में डीएमएफ के तहत स्वीकृत ई-लाइब्रेरी का कार्य 10 जून तक पूरा करने हिदायत दी है।

नहीं पहुंचे आयुक्त कलेक्टर हुए नाराज

जिले में आदिमजाति विभाग से संचालित आश्रम- छात्रावासों में सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए स्वीकृति दी गई है। बैठक में आदिमजाति विकास विभाग के सहायक आयुक्त अनुपस्थित रहे, इसलिए इस पर चर्चा नहीं हो पाई। उनकी अनुपस्थिति पर कलेक्टर ने नाराजगी भी जताई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kawardha

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×