• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • वनांचल का मोबाइल टावर शोपीस बना, आए दिन नेटवर्क बंद, उपभोक्ताओं की बढ़ी परेशानी
--Advertisement--

वनांचल का मोबाइल टावर शोपीस बना, आए दिन नेटवर्क बंद, उपभोक्ताओं की बढ़ी परेशानी

भारत संचार निगम लिमिटेड द्वारा वनांचल क्षेत्र के दूरस्थ अंचल में स्थित मोबाइल टावर से उपभोक्ताओं को परेशानी का...

Danik Bhaskar | Jun 19, 2018, 02:50 AM IST
भारत संचार निगम लिमिटेड द्वारा वनांचल क्षेत्र के दूरस्थ अंचल में स्थित मोबाइल टावर से उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन टावरों में आए दिन नेटवर्क बंद रहने से परेशानी बढ़ गई है।

धवईपानी, झलमला जंगल, समनापुर जंगल, रेंगाखार जंगल, उसरवाही, खारा आदि अनेक गांवों में मोबाइल टावर लगाए गए हैं। लेकिन इन टावरों में नेटवर्क की समस्या करीब महीने भर से बढ़ गई है। चिल्फी घाटी में लैंडलाइन व मोबाइल टावर की समस्या सप्ताह भर से बनी हुई है। एक सप्ताह बाद नेटवर्क में कुछ सुधार तो आया है, लेकिन बैंकिंग कार्य नहीं हो रहा है। सर्वर डाऊन की समस्या एक सप्ताह से लगातार जारी है। इससे बैंक उपभोक्ताओं को रुपए निकालने व जमा करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

वनांचल में खड़े मोबाइल टावर शोपीस बना

विभागीय लापरवाही और देखरेख के अभाव में मोबाइल टावर महज शोपीस बनकर रह गया है। झलमला जंगल से प्रभाती मरकाम ने बताया कि यहां लगा टावर प्राय: बंद ही रहता है। क्षेत्र में इकलौता टावर होने के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गई है। धवईपानी निवासी मुकेश जोर ने बताया कि वहां का मोबाइल टावर सप्ताह में तीन चार दिन बंद ही रहता है। जिससे शासन द्वारा वनांचल में टावर लगाने का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है।

अधिकारी की उदासीनता से उपभोक्ता परेशान हो रहे

उपभोक्ता खराब नेटवर्किंग के चलते परेशान उपभोक्ता अपनी मोबाइल सिम बदल कर दूसरी कंपनी की सिम लेने लगे हैं। इससे बीएसएनएल के उपभोक्ता जहां कम होने लगे हैं, वहीं प्राइवेट कंपनी के उपभोक्ता लगातार बढ़ रहे हैं। इसके बावजूद अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। परेशानी बढ़ी है।

अपग्रेड किया जा रहा है