--Advertisement--

कबीरधाम जिले में पानी बचाने बनेगी योजना

विकास यात्रा के पहले चरण में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के बाद सांसद अभिषेक सिंह ने पत्रकारों से बातचीत की। इस...

Danik Bhaskar | Jun 01, 2018, 02:55 AM IST
विकास यात्रा के पहले चरण में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के बाद सांसद अभिषेक सिंह ने पत्रकारों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिले का घटता भूजल स्तर चिंता का विषय है और इस दिशा में सभी को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने बताया कि जल समस्या को दूर करने का एक सबसे बड़ा विकल्प है कि बारिश के पानी को हम मिलकर सहेजें। उन्होंने कहा कि पानी बचाने के लिए चारों ब्लॉक को जोड़कर एक योजना जल्द बना ली जाएगी। जिले में पहाड़ी क्षेत्रों से लेकर मैदानी क्षेत्रों में पानी रोकने के जतन किए जाएंगे।

सांसद ने कहा कि वैसे पहले भी डबरी, छोटे तालाब व बड़े तालाब के जरिए पानी रोकने के लिए व्यवस्थाएं की गईं हैं। पिछले दो साल के सूखे के कारण जल समस्या बढ़ी है और इसे दूर करने के लिए हमें मिलकर प्रयास करना होगा। उन्होंने पर्यावरण के मामले में कहा कि अब बड़े स्तर पर होने वाले प्लांटेशन के बाद पौधों को सुरक्षित रखने के लिए देखरेख के निर्धारित समय 3 साल को बढ़ाकर 5 साल करने की जरूरत है। इसके साथ ही जल समस्या पर उन्होंने समाज को जोड़ने की बात भी कही।

ड्रीप एरिगेशन से 40 फीसदी बचेगा पानी, इसलिए योजना बना रहे: जिले में गन्ने की बढ़ती खेती और घटते भूजल स्तर पर उन्होंने कहा कि सरकार जल संकट पर संजीदा है और संकरी नदी के पुनर्जीवन की योजना इसी की दिशा में एक प्रयास है। उन्होंने बताया कि गन्ने की फसल में ड्रीप एरिगेशन की दिशा में योजना बनाई जा रही है। इससे सिंचाई में 40 फीसदी कम पानी लगता है साथ ही बिजली की भी बचत होती है। गन्ना किसानों को कारखाना से जारी होने वाले पर्ची के लिए भी इस बार नया सिस्टम बनाया जाएगा। तारीख वार इस पेराई सत्र में 3 महीने की एडवांस पर्ची किसानों को जारी होगी।

कवर्धा.पत्रकारों से चर्चा करते सांसद अभिषेक सिंह व दोनों विधायक।

झलमला में बैंक की ब्रांच उस क्षेत्र के लिए सौगात

सांसद ने बताया कि रेंगाखार के पास वनांचल ग्राम झलमला में बैंक की ब्रांच खुलेगी। वहां के लोगों को अपने वित्तीय लेनदेन के लिए दूर तक सफर करना पड़ता था। अब ऐसा नहीं होगा। स्थानीय लोगों को गांव में ही सुविधा मिल सकेगी।