--Advertisement--

12 स्कूलों में 63-63 हजार रुपए का हिसाब नहीं मिला

कवर्धा.इस साल दी गई राशि का इस्तेमाल खेल सामग्री के लिए किया जाएगा। भास्कर न्यूज | कवर्धा खेल एवं युवा कल्याण...

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 02:55 AM IST
12 स्कूलों में 63-63 हजार रुपए का हिसाब नहीं मिला
कवर्धा.इस साल दी गई राशि का इस्तेमाल खेल सामग्री के लिए किया जाएगा।

भास्कर न्यूज | कवर्धा

खेल एवं युवा कल्याण विभाग ने साल 2015 और 2016 में जिले के 12 स्कूलों को ग्रामीण खेल अभ्यास योजना अंतर्गत करीब 15 लाख बांटे गए। लेकिन इन स्कूलों द्वारा दी गई राशि का हिसाब नहीं दिया गया। इसे लेकर कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने 23 मई को खेल विभाग को इन स्कूलों से हिसाब लेने आदेश दिया था। लेकिन खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा अभी तक 12 स्कूलों से हिसाब नहीं ले सका हैं। खेल विभाग ने 26 मई को डीईओ को 12 स्कूलों से जानकारी लेने आदेश दिया था। इधर 30 मई को शिक्षा विभाग ने कलेक्टर व खेल अधिकारी को पत्र लिखकर विभाग से संबंधित नही होने की जानकारी दी है।

हमें जानकारी नहीं दी: 12 स्कूलों से 63-63 हजार रुपए हिसाब दिए जाने का मामला दो विभागों में फंस गया हैं। डीईओ चैन सिंह ध्रुव का कहना है कि 2015 व 2016 में खेल विभाग द्वारा उनके विभाग से पूछे बगैर राशि जारी कर दी। वर्तमान में कलेक्टर ने खेल विभाग को जांच का आदेश दिया तो खेल विभाग द्वारा हमारी ओर जांच कराने आदेश दिया जा रहा हैं। दोनों वर्षों में खेल विभाग द्वारा ही इन स्कूलों को रुपए दिए थे, खेल विभाग ही इस राशि को लेकर जानकारी मांग सकता हैं।

इस साल डीईओ को बनाया मॉनिटरिंग अधिकारी

खेल विभाग द्वारा पहली बार जिला शिक्षा अधिकारी को मॉनीटरिंग अधिकारी बनाया गया हैं। यानि इस साल दी गई राशि के खर्च का हिसाब डीईओ कार्यालय लेगा। इस साल फिर इन हायर सेकंडरी स्कूलों को 60-60 हजार रुपए दिए जा रहें हैं। इनमें कवर्धा ब्लॉक के ग्राम मरका, दशरंगपुर इंदौरी व सहसपुर लोहारा ब्लॉक के ग्राम रणवीरपुर,गैंदपुर, रामपुर, पंडरिया ब्लॉक के मोहगांव, किशुनगढ़,कुकदुर समेत बोड़ला ब्लॉक के ग्राम खैरबना कला, पोंड़ी, राजानवागांव के स्कूल शामिल हैं।

X
12 स्कूलों में 63-63 हजार रुपए का हिसाब नहीं मिला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..