--Advertisement--

डिलिवरी नहीं, गर्भपात कराने आई थी महिला

जिला अस्पताल में डॉक्टर और नर्सों की लापरवाही से सप्ताहभर पहले एक नवजात शिशु की मौत हाे गई थी। मामले में जांच की...

Dainik Bhaskar

Jul 08, 2018, 02:55 AM IST
जिला अस्पताल में डॉक्टर और नर्सों की लापरवाही से सप्ताहभर पहले एक नवजात शिशु की मौत हाे गई थी। मामले में जांच की जिम्मेदारी अस्पताल के ही डॉ. आईएस ठाकुर और डॉ. सलील मिश्रा को दी गई। जांच अधिकारियों ने शनिवार काे रिपोर्ट सिविल सर्जन को सौंपी। रिपोर्ट में बताया है कि खैराहा गांव निवासी सुखियारिन पति जगराम डिलवरी के लिए नहीं, बल्कि गर्भपात कराने आई थी।

मामले में डॉ. धर्मेंद्र कुमार और नर्स सुनीता व ममता की भी लापरवाही उजागर हुई है। जांच में पता चला है कि ड्यूटी के वक्त डॉक्टर और नर्स वहां नहीं थे। इसलिए साथ आई महिला परिजनों ने ही गर्भवती का प्रसव कराया, वो भी वार्ड के बेड पर। बाद में नर्सें वहां पहुंची, तो नवजात शिशु की मौत का पता चला। प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. एसआर चुरेन्द्र का कहना है कि जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी गई है। आगे की कार्रवाई वे ही करेंगे।

डॉक्टर और नर्स को हम दे चुके हैं नोटिस

ड्यूटी में लापरवाही बरतने के मामले में 3 दिन पहले ही डॉ. धर्मेंद्र कुमार और दोनों नर्सों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। नोटिस देकर उनसे जवाब मांगी गई थी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..