Hindi News »Chhatisgarh »Kawardha» मछलियों को दाना खिलाकर सीएम बोले: कांग्रेसी सत्ता के लिए ऐसे तड़प रहे हैं जैसे जल बिन मछली

मछलियों को दाना खिलाकर सीएम बोले: कांग्रेसी सत्ता के लिए ऐसे तड़प रहे हैं जैसे जल बिन मछली

प्रदेश के पहले मात्स्यिकी कॉलेज का शुभारंभ करने व कवर्धा में विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण करने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 09, 2018, 02:55 AM IST

मछलियों को दाना खिलाकर सीएम बोले: कांग्रेसी सत्ता के लिए ऐसे तड़प रहे हैं जैसे जल बिन मछली
प्रदेश के पहले मात्स्यिकी कॉलेज का शुभारंभ करने व कवर्धा में विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण करने पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कांग्रेस पर जमकर जुबानी प्रहार किया। मुख्यमंत्री ने कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल व सांसद अभिषेक सिंह के साथ पहले तो मात्स्यिकी कॉलेज में मछलियों को दाना खिलाया। इसके बाद शहर के आमसभा में बोले कि कांग्रेसी पिछले 15 साल से सत्ता के लिए ऐसे तड़प रहे हैं, जैसे जल बिन मछली।

मुख्यमंत्री, कृषि मंत्री व सांसद तीनों दिनभर कबीरधाम जिले में रहे। पहले वे बोड़ला के पचराही पहुंचे। यहां से कवर्धा के सेवईकछार में फिशरीज कॉलेज के उद्घाटन में पहुंचे। इसके बाद उन्होंने शहर के वार्ड नंबर 3 गंगानगर में नगर पालिका द्वारा विकसित सरोवर उद्यान का नपा अध्यक्ष देवकुमारी चंद्रवंशी, मोतीराम चंद्रवंशी व अशोक साहू की मौजूदगी में लोकार्पण किया। कॉलेज मैदान में आमसभा, शिलान्यास व रोजगार मेला कार्यक्रम में शामिल हुए। कॉलेज मैदान में 70.38 करोड़ के कार्यों का शिलान्यास किया और 32.86 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण किया। सीएम देर शाम बेमेतरा के रेस्ट हाउस में करीब एक घंटे रूके।

कवर्धा.प्रदेश के इकलौते मात्स्यिकी कॉलेज के फिशरीज टैंक में मछलियों को दाना खिलाते सीएम डॉ. रमन सिंह व अन्य।

कांग्रेस कहते हैं अइसने में बुढ़ा जाबो का रे, मैं कहता हूं हव बुढ़ा जाहू: सिंह

कांग्रेसी सत्ता पाने के लिए 15 साल से ऐसे तड़प रहे हैं, जैसे मछली को पानी से बाहर निकाल दो, तब तड़पती है। कुछ कांग्रेसी लोग कहते हैं कि अइसने करत-करत बुढ़ा जाबो का रे..., मैं कहता हूं हव बुढ़ा जाहू।

कांग्रेस के कुकर्म के कारण ऐसा हुआ। कांग्रेस ने 60 सालों में आखिर क्या किया। कांग्रेस का आत्मविश्वास समाप्त हो चुका है, इसलिए वे बार-बार विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाते हैं। 5 बार लाए प्रस्ताव हर बार ध्वस्त हो गया

कवर्धा ने 100 फीसदी रिजल्ट दिया। ये जनता का भाजपा पर विश्वास है और कांग्रेस से जनता का विश्वास खत्म हो चुका है। आज हिन्दुस्तान के 75 फीसदी स्थान पर भाजपा की सरकार है 6 फीसदी स्थान पर कांग्रेस है।

इंदिरा आवास में गांव वाले अब इसमें सुअर और बकरी रखते हैं। यह आदमी के रहने लायक नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबों के रहने के लिए देश में 11 लाख आवास स्वीकृत किए हैं। इधर कांग्रेसी पूछ रहे हैं क्या किए?

कांग्रेस ने 50 साल में गरीबी हटाओ का नारा दिया, लेकिन काम कुछ नहीं किया। अब पंडरिया-बोड़ला में गरीब सुकून से खाता है। क्या दिया था कांग्रेस ने। कांग्रेस के लोग नाटक करते हैं। इनके भ्रम में आने की जरूरत नहीं है।

2003 का कवर्धा और अब के कवर्धा में बहुत अंतर है। कांग्रेस के 50-60 साल की सरकार में कवर्धा विकास को तरसता था, भाजपा सरकार बनने के बाद 103 करोड़ रु. का लोकार्पण-भूमिपूजन का काम भी आज रिकॉर्ड है।

तीन करोड़ के विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

कान खोलकर सुन लें, जो 10 साल से काबिज उन्हें ही मिलेगा पट्टा: रमन

इससे पहले मुख्यमंत्री ने वनवासियों व ग्रामीणों को पट्टा वितरण की जानकारी देते हुए कहा कि लोग कान खोलकर सुन लें कि जो ग्रामीण 10 साल से भूमि पर काबिज होगा, पट्टा उसे ही दिया जाएगा। छह महीने या एक साल के काबिज को पट्टा नहीं मिलेगा। क्योंकि बहुत से लोग ऐसा ही करते हैं। बाहर से लोग आकर स्थानीय लोगों को बेदखल करना चाहते हैं। इन्हें बढ़ावा देने वाले लोग अब नहीं चलेंगे।

46 एकड़ में फैला से फिशरीज कॉलेज का कैंपस, देश के 30 कॉलेजों में से एक

प्रदेश का पहला फिशरीज कॉलेज लगभग 46 एकड़ के कैंपस में फैला हुआ है। कवर्धा के पास ग्राम सेवईकछार में इसे लगभग 23 करोड़ रुपए की लागत से 5 साल में बनाया गया है। इसमें एकेडमिक भवन के साथ दो हॉस्टल भी हैं। पूरे देश में इस समय लगभग 30 फिशरीज कॉलेज संचालित हैं। इसी कॉलेज का उद्घाटन करने मुख्यमंत्री, कृषि मंत्री व सांसद पहुंचे। उन्होंने यहां पहुंचकर मुख्य बरामदे में बने टैंक में मछलियों को दाना खिलाया। सीएम ने कहा कि इसे कॉलेज नहीं बल्कि मछली पालन के प्रशिक्षण संस्थान के रूप में विकसित करें। मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश में मछलीपालन में छठवें स्थान पर है। उन्होंने कहा कि अब इस कॉलेज में 40 सीटें बढ़ाकर 100 कर दी जाएंगी और पीजी कोर्स के भी 10 सीटें संचालित किए जाएंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kawardha

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×