• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Kawardha
  • नेकी से मिले ढाई सौ जोड़ी जूते-चप्पल, 150 जोड़ी कपड़े पाकर बच्चों के चेहरे पर आ गई मुस्कान
--Advertisement--

नेकी से मिले ढाई सौ जोड़ी जूते-चप्पल, 150 जोड़ी कपड़े पाकर बच्चों के चेहरे पर आ गई मुस्कान

शहर में युवाओं के ग्रुप ने जरूरतमंदों की मदद के लिए नेकी की दुकान शुरू की है। नेकी का पहला पड़ाव बोड़ला ब्लॉक...

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2018, 02:55 AM IST
नेकी से मिले ढाई सौ जोड़ी जूते-चप्पल, 150 जोड़ी कपड़े पाकर बच्चों के चेहरे पर आ गई मुस्कान
शहर में युवाओं के ग्रुप ने जरूरतमंदों की मदद के लिए नेकी की दुकान शुरू की है। नेकी का पहला पड़ाव बोड़ला ब्लॉक मुख्यालय से 8 किमी दूर बैगा बाहुल गांव बावापथरा में पड़ा। यहां नेकी से बच्चों व महिलाओं को ढाई सौ जोड़ी जूते और चप्पल बांटे गए।

साथ ही 150 जोड़ी कपड़े दिए गए, जिसे पाकर बच्चों के चेहरे पर मुस्कान आ गई। असल जिंदगी से बेखबर बैगा-आदिवासी, जो कभी जूते ही नहीं पहने हैं। हमेशा स्कूल से घर, खेत-खलिहान और बाजार भी खुले पैर आना- जाना करते हैं। नेकी से मिले चप्पल-जूते पहनकर चलने लगे, तो उनकी जिंदगी में खुशियों के रंग भर गए। नेकी की दुकान से बच्चों के अलावा बड़ों ने भी अपने लिए कपड़े और चप्पल रखे। नेकी संचालक समिति के विकास सेठिया, सोनू चावला, महबूब खान बताते हैं कि अभावों में जी रहे लोगों की जिंदगी में खुशियां लाने प्रयास है।

नेकी की दुकान में आए 12सौ जोड़ी कपड़े, 400 जोड़ी चप्पल और छाता: प्रमुख प्राथमिक स्कूल कवर्धा से लगा हुआ नेकी की दुकान है। इसे इतना रिस्पांस मिला है कि महीने भर के भीतर ही 1200 जोड़ी कपड़े, करीब 400 जोड़ी जूते-चप्पल, 52 छाता और 10 से ज्यादा स्कूल बैग आ चुके हैं। इस दुकान में कपड़े वगैरह दान करने आने वालों और जो जरूरतमंद इसे ले जाते हैं, इसकी बकायदा रिकॉर्ड मेंटेन की जा रही है। लोगों को भी जोड़ रहे हैं।

X
नेकी से मिले ढाई सौ जोड़ी जूते-चप्पल, 150 जोड़ी कपड़े पाकर बच्चों के चेहरे पर आ गई मुस्कान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..