--Advertisement--

पिछले साल 60 तो इस बार 75 लाख करेंगे खर्च

बीते साल जिला प्रशासन व डीईओ कार्यालय द्वारा 60 लाख रुपए खर्च कर करीब 254 बच्चों को मेडिकल व आईआईटी कॉलेजों में दाखिले...

Dainik Bhaskar

Jun 25, 2018, 03:05 AM IST
पिछले साल 60 तो इस बार 75 लाख करेंगे खर्च
बीते साल जिला प्रशासन व डीईओ कार्यालय द्वारा 60 लाख रुपए खर्च कर करीब 254 बच्चों को मेडिकल व आईआईटी कॉलेजों में दाखिले के लिए नि:शुल्क कोचिंग की व्यवस्था की गई। लेकिन नीट व जेईई परीक्षा का परिणाम आने के बाद इस कोचिंग से एक भी बच्चे का मेडिकल व आईआईटी कॉलेज में दाखिला नहीं हो सका।

अब इस साल नाकामी के बाद फिर से 75 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इसे लेकर टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई हैं। डीईओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार बिहार के हाजीपुर की संस्था सामर्थ्य क्लासेस को नीट व जेईई नि:शुल्क कोचिंग के लिए 75 लाख रुपए में ठेका दिया गया है। यह संस्था जिले के 100 टॉपर बच्चों को नीट व जेईई की कोचिंग देगी।

प्रवेश परीक्षा में कम पहुंचे थे स्टूडेंट: गौरतलब है कि नि:शुल्क कोचिंग में प्रवेश को लेकर डीईओ कार्यालय द्वारा गत 20 तारीख को कचहरी पारा हायर सेकण्डरी स्कूल में प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा में जिले के टॉपर स्टूडेंट्स का रुझान कम दिखाई दिया था। परीक्षा में केवल 206 स्टूडेंट ही शामिल हुए हैं। जबकि इस कोचिंग के लिए 100 सीट निर्धारित की गई थी। स्टूडेंट्स का रुझान कम होने के कारण शिक्षा विभाग की परेशानी बढ़ा दी है। परीक्षा में टॉपर स्टूडेंट्स कम थे, इसे देखते हुए आने वाले वर्ष के नीट व जेईई परीक्षा में असर दिखाई दे सकता है। वहीं प्रशासन की ओर से आर्ट्स, कॉमर्स, एग्रीकल्चर वाले स्टूडेंट्स के लिए योजना तैयार की जा रही थी। लेकिन टेंडर की प्रक्रिया में केवल नीट व जेईई कोचिंग को रखने से आर्ट्स, कॉमर्स, एग्रीकल्चर के बच्चों को फायदा नहीं मिल सकेगा।

नि:शुल्क जेईई व नीट

खराब परफॉर्मेंस के चलते विद्या क्लासेस को किया बाहर, हाजीपुर की संस्था को दिया ठेका

कवर्धा. 20 तारीख को प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई थी। (फाइल फोटो)

विद्या क्लासेस को किया काेचिंग के लिए बाहर

पिछले साल 60 लाख रुपए में दिल्ली की संस्था विद्या क्लासेस को कोचिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। लेकिन परीक्षा परिणाम आने के बाद एक भी स्टूडेंट्स का चयन नहीं हाे सका। इस साल इस संस्था ने नि:शुल्क कोचिंग देने को लेकर टेंडर भरा आवेदन किया था। लेकिन खराब परफॉर्मेंस के चलते इन्हे रिपीट नहीं किया गया। वहीं इस बार के टेंडर में 7 काेचिंग संस्थानों ने रुचि दिखाई थी। इसमें राजस्थान के कोटा, भिलाई व रायपुर, दिल्ली व बिहार की संस्था शामिल थी। टेंडर की प्रक्रिया 22 तारीख को पूर्ण कर ली गई हैं। अगले माह के पहले हफ्ते से कोचिंग शुरू हाेने की संभावना है।

X
पिछले साल 60 तो इस बार 75 लाख करेंगे खर्च
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..