• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kawardha
  • रैली में रानी दुर्गावती की वेशभूषा में घोड़े पर सवार होकर शहर में घूमी वीरांगना
--Advertisement--

रैली में रानी दुर्गावती की वेशभूषा में घोड़े पर सवार होकर शहर में घूमी वीरांगना

नगर के आदिवासी मंगल भवन में रविवार को रानी दुर्गावती के 454वें बलिदान दिवस पर आदिवासी समाज के लोग एकजुट हुए।...

Danik Bhaskar | Jun 26, 2018, 02:45 PM IST
नगर के आदिवासी मंगल भवन में रविवार को रानी दुर्गावती के 454वें बलिदान दिवस पर आदिवासी समाज के लोग एकजुट हुए। कार्यक्रम से जहां आदिवासियों ने अपनी ताकत दिखाई, वहीं समाज के विकास पर जोर दिया। सभा के बाद वीरांगना के शौर्य, वीरता को प्रदर्शित करते हुए रैली निकाली गई।

रैली में जब रानी दुर्गावती की वेशभूषा में घोड़े पर सवार वीरांगना की जीवंत झांकी चली, तो लोग देखते ही रह गए। राजा योगेश्वर राज सिंह, महारानी कृति देवी सिंह और सहसपुर लोहारा के राजा खड़गराज सिंह की अगुवाई में निकली यह रैली रानी दुर्गावती चौक पहुंची। चौक पर दुर्गावती की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। इसके बाद रैली वापस मंगल भवन पहुंची, जहां सभा हुई। सभा में राजा योगेश्वर राज सिंह ने कहा कि आदिवासी समाज में थोड़ी दूरी है, उसे खत्म करना जरूरी है। आदिवासी समाज छोटे- छोटे कारणों से बिखर गया है, उसे एक करने पर जोर दिया।

इस अ‌वसर पर उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज जीने की कला सिखाती है, लेकिन हमारी युवा पीढ़ी इस परंपरा को भूल रहे हैं, जो चिंता का विषय है। सभा में उपस्थित राजा खड़गराज सिंह ने कहा कि जिला गोड़ समाज और सर्व आदिवासी समाज ने समाज को एकजुट करने का बीड़ा उठाया है। इस प्रयास को जारी रखने की बात कही। इस मौके पर प्रभाती मरकाम, फागुराम मरकाम, विदेशीराम धुर्वे, डॉ. संतोष धुर्वे समेत बड़ी संख्या में समाज के लोग उपस्थित रहे।

कवर्धा. रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर रैली निकाली गई।

कवर्धा. सभा में मौजूद समाज के लोग।