Hindi News »Chhatisgarh »Kendri» लंदन से लौटते ही एयरपोर्ट पर कार्ति चिदंबरम गिरफ्तार

लंदन से लौटते ही एयरपोर्ट पर कार्ति चिदंबरम गिरफ्तार

सीबीआई ने बुधवार को पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया। 46 साल के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 03:05 AM IST

लंदन से लौटते ही एयरपोर्ट पर कार्ति चिदंबरम गिरफ्तार
सीबीआई ने बुधवार को पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया। 46 साल के कार्ति पर आरोप है कि पिता के मंत्री रहने के दौरान उन्होंने पीटर और इंद्राणी मुखर्जी की कंपनी आईएनएक्स मीडिया (अब 9X मीडिया) में 305 करोड़ रु. के विदेशी निवेश की मंजूरी दिलाने के बदले साढ़े तीन करोड़ लिए थे। यह मंजूरी 2007 में विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) ने दी थी। शेष|पेज 9



लंदन से लौटे कार्ति को सीबीआई चेन्नई एयरपोर्ट से ही दिल्ली ले आई। ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने उन्हें एक दिन के रिमांड पर सीबीआई को सौंप दिया। हालांकि, जांच एजेंसी ने 15 दिन का रिमांड मांगा था। अब उन्हें गुरुवार दोपहर 2.30 बजे स्पेशल जज के समक्ष पेश किया जाएगा। कार्ति की गिरफ्तारी पर राजनीति भी गर्मा गई है। कांग्रेस और कार्ति इसे बदले की भावना से प्रेरित बता रहे हैं। कार्ति ने अरेस्ट मेमो पर लिखा कि यह सारी कवायद उनके पिता को निशाना बनाने के लिए है। वहीं, केंद्र सरकार ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है।

सरकार ने कहा- कोई बदला नहीं, सिर्फ कानून अपना काम कर रहा है: सरकार और भाजपा ने कार्ति की गिरफ्तारी पर कांग्रेस के आरोप सिरे से नकार दिए। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बदले की भावना से कोई काम नहीं हो रहा है। सिर्फ कानून अपना काम कर रहा है। उन्होंने स्पष्ट किया कि कार्ति की गिरफ्तारी में सरकार का काेई हाथ नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में आरोपियों के खिलाफ मौजूद सबूत ही सबकुछ बोलते हैं। वहीं, संबित पात्रा ने कहा कि राजनीति की बात करने वाले लोग पहले जांच के लिए कानून के समक्ष पेश हों।

कोर्ट रूम लाइव....

सीबीआई ने कहा- विदेश भाग सकते हैं कार्ति; कार्ति बोले- हिंदुस्तान लीवर नहीं, रिटर्नर हूं:

सीबीआई के स्पेशल जज के जाने के बाद कार्ति को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। पढ़िए दोनों पक्षों की दलीलें लाइव:

वीके शर्मा (सीबीआई के वकील): कार्ति जांच में सहयोग नहीं कर रहे। वह विदेश भाग सकते हैं और सबूतों को प्रभावित कर सकते हैं।

अभिषेक मनु सिंघवी (कार्ति के वकील): हमेशा जांच में सहयोग किया। हर बार कोर्ट की इजाजत से विदेश गए। वह हिंदुस्तान लीवर नहीं, हिंदुस्तान रिटर्नर हैं। सीबीआई ने 180 दिन में 1 बार भी पूछताछ नहीं की। 10 साल पुराने केस में अब गिरफ्तारी क्यों।

शर्मा : आईएनएक्स मीडिया की पूर्व डायरेक्टर इंद्राणी मुखर्जी ने 17 फरवरी को मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया था कि कार्ति ने दिल्ली के एक होटल में 10 लाख डॉलर (करीब साढ़े छह करोड़ रुपए) मांगे थे।

सिंघवी: सीबीआई ने अपनी अर्जी में यह बात नहीं लिखी है। सिर्फ केस बनाने को ऐसा कह रहे हैं।

शर्मा: कार्ति नहीं बता रहे कि आईएनएक्स मीडिया में पैसा कहां से आया और कहां गया।

सिंघवी: सीबीआई की अर्जी अश्वत्थामा के आधे सच जैसी है।

कार्ति: मैं कंपनी का शेयर होल्डर नहीं, मैं कहीं भागा नहीं। मुझे गिरफ्तारी की वजह नहीं बताई गई।

कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कार्ति को एक दिन के रिमांड पर सीबीआई को सौंप दिया।

सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर सीबीआई ने दर्ज किया था केस: सीबीआई ने पिछले साल 15 मई को कार्ति के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी, भ्रष्ट और अवैध काम के लिए धन लेने के आरोपों में केस दर्ज किया था। इसके अनुसार आईएनएक्स मीडिया के रिकॉर्ड में उल्लेख है कि कार्ति ने एडवांटेज स्ट्रेटेजिक कंसल्टिंग प्रा. लि. को एफआईपीबी नोटिफिकेशन के लिए 10 लाख रुपए दिए थे। यह कंपनी परोक्ष रूप से कार्ति से जुड़ी है। कार्ति से जुड़ी कंपनियों और आईएनएक्स के बीच 3.5 करोड़ रु. का लेनदेन हुआ था। केस में पीटर और इंद्राणी मुखर्जी भी आरोपी हैं। केस सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर दर्ज हुआ था।

लुकआउट नोटिस भी जारी हुआ था, कोर्ट की इजाजत से गए थे लंदन : कार्ति पर टैक्स से जुड़ी जांच रफा-दफा करवाने के बदले आईएनएक्स मीडिया से पैसे लेने का भी आरोप है। तब कंपनी के मालिक इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी थे। अब दोनों शीना बोरा हत्याकांड में जेल में हैं। एयरसेल-मैक्सिस डील की एफआईपीबी क्लीयरेंस की भी सीबीआई जांच कर रही है। ईडी ने भी मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज कर रखा है। कार्ति के घर और दफ्तरों पर छापे भी मारे गए थे। उनसे पूछताछ भी हो चुकी है। विदेश जाने से रोकने के लिए लुकआउट नोटिस भी जारी हुआ था। हालांकि, गत नवंबर में कोर्ट ने उन्हें बेटी के एडमिशन के लिए लंदन जाने की इजाजत दी थी।

चिदंबरम ने हफ्तेभर पहले ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर परेशान करने की जताई थी: संभवत: कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को बेटे की गिरफ्तारी का अहसास हो गया था। उन्होंने हफ्तेभर पहले ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर आशंका जताई थी कि आईएनएक्स मीडिया प्रकरण में उन्हें और परिवार को लगातार परेशान किया जा सकता है। उन्होंने कोर्ट से आग्रह किया था कि सीबीआई और ईडी को उनके और बेटे सहित परिवार के अन्य सदस्यों को परेशान करके उनके खिलाफ गैरकानूनी जांच से रोका जाए। इस पर सुनवाई से पहले ही कार्ति की गिरफ्तारी हो गई।

यह घोटालों से ध्यान भटकाने की सरकार की चाल: कांग्रेस

कार्ति के बचाव में कांग्रेस प्रवक्ताओं की पूरी फौज उतर आई। सबने एक सुर में कहा कि यह मोदी सरकार के रोज उजागर हो रहे भ्रष्टाचार और घोटालों से ध्यान भटकाने की रणनीति है। रणदीप सिंह सुरजेवाला, कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी कार्ति के समर्थन में आए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kendri News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: लंदन से लौटते ही एयरपोर्ट पर कार्ति चिदंबरम गिरफ्तार
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kendri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×