Hindi News »Chhatisgarh »Kendri» केंद्र सरकार का दावा- रफाल की कीमत गोपनीय; ऑपरेशनल कारणों से खुलासा नहीं

केंद्र सरकार का दावा- रफाल की कीमत गोपनीय; ऑपरेशनल कारणों से खुलासा नहीं

नई दिल्ली| रफाल डील की सीक्रेसी पर मोदी सरकार और कांग्रेस आमने-सामने हैं। पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी ने सोमवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 24, 2018, 03:15 AM IST

केंद्र सरकार का दावा- रफाल की कीमत गोपनीय; ऑपरेशनल कारणों से खुलासा नहीं
नई दिल्ली| रफाल डील की सीक्रेसी पर मोदी सरकार और कांग्रेस आमने-सामने हैं। पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी ने सोमवार को दावा किया कि 2008 में फ्रांस के साथ हुए समझौते में विमान की कीमत सार्वजनिक करने पर रोक नहीं थी। गोपनीय सूचनाओं की सुरक्षा संबंधी समझौते में सिर्फ ऑपरेशनल ब्यौरा गुप्त रखने की शर्त थी। दूसरी तरफ, भाजपा ने इस मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को घेरा। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि रफाल की कीमत पूछकर और फ्रांसीसी राष्ट्रपति के साथ चर्चा को राजनीति में घसीटकर राहुल ने गैर जिम्मेदारी दिखाई है। एक रफाल की कीमत 670 करोड़ रु. बताई गई थी। भारत के लिए किए गए परिवर्तनों की कीमत का खुलासा ऑपरेशनल कारणों से नहीं कर सकते।





सरकार का दावा है कि फ्रांस के साथ सीक्रेसी पैक्ट के कारण करीब 58 हजार करोड़ रु. के इस कॉन्ट्रेक्ट का ब्रेक-अप नहीं बता सकते। हालांकि, रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे संसद में दो बार रफाल की कीमत का खुलासा कर चुके हैं। भामरे ने 18 नवंबर, 2016 को लोकसभा और 12 मार्च, 2018 को राज्यसभा में कहा था कि एक रफाल विमान 670 करोड़ रुपए का है। हालांकि, डील के अनुसार एक रफाल करीब 1640 करोड़ रु. में पड़ेगा। विमान के साथ जरूरी उपकरणों, सर्विस और हथियारों का ब्रेक अप उन्होंने नहीं बताया था।

---------------

सितंबर 2016 में रक्षा मंत्रालय ने भी दिया था रफाल का ब्योरा:

सितंबर 2016 में समझौता होने के समय सौदे की बारीकियां सार्वजनिक की गई थी। तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की प्रेस कांफ्रेंस में बताया गया था कि एक सिंगल सीटर रफाल 910 लाख यूरो यानी 670 करोड़ रुपए का होगा। जबकि टू सीटर रफाल 940 लाख यूरो का होगा। यह सिर्फ एयरक्राफ्ट की कीमत थी। डील के तहत 28 सिंगल सीटर और 8 टू सीटर विमान खरीदे जाएंगे। भारतीय जरूरतों के हिसाब से इनमें डॉप्लर रडार, रेडियो एल्टीमेटर्स, रडार रिसीवर सहित कई उपकरण और हथियार जोड़े जाएंगे।

2008 के समझौते में कीमतें सार्वजनिक करने पर रोक नहीं: एके एंटनी

रफाल डील:फ्रांस और भारत के बीच हुए तीन समझौते

25 जनवरी, 2008 : रक्षामंत्री एके एंटनी, फ्रांसीसी रक्षा मंत्री हार्वे मॉरिन ने गोपनीयता के समझौते पर हस्ताक्षर किए। 23 सितंबर, 2016 : रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर और फ्रांस के रक्षामंत्री ने 36 रफाल लड़ाकू विमानों की खरीदार के इंटर गवर्नमेंटल समझौते पर हस्ताक्षर किए। 8 मार्च, 2018 : एनएसए अजित डोभाल और फ्रांसीसी राष्ट्रपति के डिप्लोमेटिक एडवाइजर फिलिप एटिने ने हस्ताक्षर किए। 2008 के समझौते की अवधि बढ़ाई गई। रफाल की कीमत गुप्त रखने की बात जोड़ी गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kendri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×