Hindi News »Chhatisgarh »Kendri» आईआईटी जैसे बड़े संस्थानों में लड़कियाें का एनरोलमेंट कम

आईआईटी जैसे बड़े संस्थानों में लड़कियाें का एनरोलमेंट कम

एम्स, आईआईटी और आईआईएम जैसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों में लड़कियों का एनरोलमेंट सबसे कम है। इनके बाद राज्यों की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 28, 2018, 03:15 AM IST

एम्स, आईआईटी और आईआईएम जैसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों में लड़कियों का एनरोलमेंट सबसे कम है। इनके बाद राज्यों की निजी ओपन यूनिवर्सिटी और सरकारी डीम्ड यूनिवर्सिटीज हैं। ऑल इंडिया सर्वे ऑफ हायर एजुकेशन (एआईएसएचई) के अध्ययन में यह खुलासा हुआ है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यह रिपोर्ट जारी की। इसके अनुसार देशभर में उच्च शिक्षा में ग्रॉस एनरोलमेंट रेशो 25.8% है। इसकी गणना 18 से 23 साल आयु वर्ग के लिए की जाती है। उच्च शिक्षा में कुल 3.66 करोड़ एनरोलमेंट हुए। इनमें से 1.92 करोड़ पुरुष और 1.74 करोड़ महिलाएं हैं। एनरोलमेंट में लड़कियों का आंकड़ा कुल 47.6% है। पुरुष आबादी का ग्रॉस एनरोलमेंट रेशो 26.3% जबकि महिलाओं का 25.4% है। एससी वर्ग के लिए यह 21.8% और एसटी के लिए 15.9% रहा। 2017 में महिलाओं की तुलना में पुरुषों को ज्यादा पीएचडी डिग्री अवार्ड की गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kendri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×