• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Korba News
  • छुरीकला में खनिज न्यास मद से डेढ़ करोड़ में बनेगा कोसा म्यूजियम
--Advertisement--

छुरीकला में खनिज न्यास मद से डेढ़ करोड़ में बनेगा कोसा म्यूजियम

नगर पंचायत छुरीकला का बजट शनिवार को नगर पंचायत अध्यक्ष अशोक देवांगन की उपस्थिति में प्रस्तुत किया गया। प्रभारी...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:30 AM IST
नगर पंचायत छुरीकला का बजट शनिवार को नगर पंचायत अध्यक्ष अशोक देवांगन की उपस्थिति में प्रस्तुत किया गया। प्रभारी सीएमओ अंजली साहू ने 8 करोड़ 63 लाख का अनुमानित बजट प्रस्तुत किया है। जिसमें 8 करोड़ 60 लाख रुपए खर्च बताया गया है। अध्यक्ष देवांगन ने बताया कि डेढ़ करोड़ की लागत से कोसा म्यूजियम बनाया जाएगा। इसके लिए खनिज न्यास मद से राशि मिलेगी। पिछला बजट 15 करोड़ रुपए का था। लेकिन राज्य शासन से मात्र डेढ़ करोड़ ही मिला। इसकी वजह से आय मुताबिक ही बजट प्रस्तुत किया गया है। अधोसंरचना मद में 5 करोड़ व 14वें वित्त में 2 करोड़ रुपए की मांग की गई है। किसी तरह का टैक्स नहीं बढ़ाया गया है। साथ ही स्वच्छता पर जो राशि ली जा रही है उसे कम करने का सुझाव दिया गया है। अभी दुकानों से 100 रुपए व मकानों से 50 रुपए लिया जा रहा है। इसे कम कर क्रमश: 50 व 20 रुपए करने का प्रावधान रखा गया है।

सरकार भाजपा की, वित्तीय अधिकार भी नहीं : देवांगन



नगर पंचायत अध्यक्ष अशोक देवांगन ने कहा है कि भाजपा के लोग आरोप लगा रहे हैं यह बेबुनियाद है। प्रदेश में भाजपा की सरकार है। अगर भ्रष्टाचार हुआ है तो इसकी जांच करा सकते हैं। अध्यक्ष को किसी प्रकार का वित्तीय अधिकार नहीं होता है। फिर भ्रष्टाचार कैसे हो सकता है। जो भी विकास कार्य हो रहे हैं उसमें सभी का योगदान रहता है। भाजपा अपनी कमजोरी छिपाने व जनता को गुमराह करने के लिए ऐसे आरोप लगा रही है।

विपक्षी बोले- अध्यक्ष की वजह से सीएमओ नहीं आना चाहते

नगर पंचायत में बजट प्रस्तुत होने के बाद उपाध्यक्ष सुशीला बिंझवार, पूर्व अध्यक्ष हीरानंद पंजवानी, पार्षद रमेश श्रीवास, एल्डरमेन रामधन देवांगन के हस्ताक्षरयुक्त बयान जारी हुआ है। जिसमें कहा गया है कि संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन, सांसद डॉ. बंशीलाल महतो ने पत्र लिखकर सीएमओ की नियुक्ति करने की मांग की थी। लेकिन अध्यक्ष अशोक देवांगन की कार्यशैली के कारण कोई भी सीएमओ यहां आना नहीं चाहता। जितने भी विकास कार्य हो रहे हैं वह विधायक व सांसद की अनुशंसा पर हो रहे हैं। सामुदायिक भवन का निर्माण किया गया है लेकिन कमीशनखोरी के कारणटेंडर बार-बार निरस्त हो जाता है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..