Hindi News »Chhatisgarh »Korba» स्वास्थ्य और इंफ्रास्ट्रक्चर में देश में तीसरे नंबर पर कोरबा, कृषि में सुधार के लिए करना होगी कड़ी मेहनत, शिक्षा के क्षेत्र में भी पिछड़ा

स्वास्थ्य और इंफ्रास्ट्रक्चर में देश में तीसरे नंबर पर कोरबा, कृषि में सुधार के लिए करना होगी कड़ी मेहनत, शिक्षा के क्षेत्र में भी पिछड़ा

विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ने के लिए पहले पिछड़ों काे आगे लाने की नीति के तहत नीति आयोग ने 1 अप्रैल से महत्वाकांक्षी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:45 AM IST

विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ने के लिए पहले पिछड़ों काे आगे लाने की नीति के तहत नीति आयोग ने 1 अप्रैल से महत्वाकांक्षी जिलों की निगरानी शुरू कर दी है। बीते बुधवार को नीति अायोग ने ‘ट्रांसफॉरमेशन ऑफ एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम’ के तहत 115 जिलों की सूची जारी की थी। ये वे जिले हैं जो देश के पिछड़े इलाकों में शामिल हैं। सरकार का ऐसा मानना है कि इनके विकास से सामूहिक विकास की दशा-दिशा में सुधार होगा। गौरतलब है कि इस सूची में छत्तीसगढ़ के 10 जिले भी शामिल हैं। इन जिलों पर पिछड़े होने की छाप न लगे, इस मंशा के तहत सरकार ने इस योजना को अंडरडेवलप (अविकसित) की जगह एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट यानी महत्वाकांक्षी जिले कहने की बात तय की थी।

स्वास्थ्य व पोषण, शिक्षा, वित्तीय समावेश, कृषि व जल संसाधन, कौशल विकास और आधारभूत संरचना की पांच श्रेणियों में 49 पैमाने शामिल कर नीति आयोग ने जिलों की बेसलाइन रैंकिंग तैयार की है। अब विकास योजनाओं की प्रगति के आधार पर मूल्यांकन होगा। हर महीने आंका जाएगा कि इन जिलों ने महत्वपूर्ण क्षेत्रों में कितनी बढ़ोतरी दर्ज कराई है। पहला रिपोर्ट कार्ड मई में जारी किया जाएगा।

ऐसे हुई थी कार्यक्रम की शुरुआत

9 अगस्त 2017 को भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे होने के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जब पिछड़े इलाकों के सामाजिक-आर्थिक हालात में बदलाव आएगा तभी देश के सामूहिक विकास को गति मिलेगी। पीएम ने जनवरी में कलेक्टरों के सम्मेलन में ‘ट्रांसफॉरमेशन ऑफ एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम’ की शुरुआत करते हुए योजना के समन्वय और उन्हें लागू करने की प्रक्रिया में जी-जान से जुटने की बात कही थी।

देश के 115 जिले योजना में शामिल, 101 की जारी की गई थी रैंकिंग, इनमें 35 माओवाद से प्रभावित इलाके

जािनए... अलग-अलग श्रेणी में देश में किस स्थान पर आए अपने 10 जिले

बेसलाइनरैंक

रैंक जिला अंक

2 राजनांदगांव 47.96%

7 महासमुंद 45.87%

9 कोरबा 45.19%

23 कांकेर 40.28%

38 बस्तर 37.40%

45 बीजापुर 36.36%

50 कोंडागांव 35.54%

56 दंतेवाड़ा 35.00%

71 नारायणपुर 33.38%

92 सुकमा 29.93%

48.13% देश में पहले पर विजयानगरम

26.02% अंतिम पायदान पर हरियाणा का मेवात

वित्तीयसमावेश

रैंक जिला अंक

1 राजनांदगांव 74.09%

2 महासमुंद 71.23%

3 बीजापुर 69.88%

4 कांकेर 58.43%

6 कोरबा 57.55%

32 नारायणपुर 43.56%

33 बस्तर 43.51%

42 दंतेवाड़ा 40.68%

75 सुकमा 31.77%

86 काेंडागांव 29.48%

74.09% देश में पहले स्थान पर छग का राजनांदगांव

10.70% अंतिम पायदान पर असोम का बक्सा

स्वास्थ्यव पोषण

रैंक जिला अंक

3 कोरबा 51.69%

8 महासमुंद 48.26%

10 दंतेवाड़ा 46.46%

13 कांकेर 44.85%

15 राजनांदगांव 44.30%

17 बीजापुर 44.00%

28 बस्तर 41.87%

39 कोंडागांव 39.76%

74 नारायणपुर 36.52%

78 सुकमा 35.80%

58.80% देश में पहले स्थान पर विरुधुनगर

18.21% अंतिम स्थान पर तेलंगाना का अदिलाबाद

स्किलडेवलपमेंट

रैंक जिला अंक

15 राजनांदगांव 14.29%

19 कोरबा 13.31%

23 कांकेर 12.10%

45 दंतेवाड़ा 6.11%

49 नारायणपुर 5.32%

57 सुकमा 3.99%

64 बस्तर 2.87%

87 महासमुंद 0.00%

88 बीजापुर 0.00%

97 कोंडागांव 0.00%

49.19% पहले स्थान पर झारखंड का पूर्वी सिंहभूम

00.00% अंतिम पर असोम का बक्सा

इंफ्रास्ट्रक्चर, स्वास्थ्य व वित्तीय समावेश में हम काफी बेहतर, शिक्षा, कौशल विकास और कृषि में साबित करने की है जरूरत

शिक्षा

रैंक जिला अंक

12 राजनांदगांव 57.59%

36 कोरबा 51.88%

39 महासमुंद 50.47%

47 कांकेर 48.08%

55 बस्तर 46.54%

65 कोंडागांव 44.59%

74 नारायणपुर 42.74%

75 बीजापुर 42.61%

82 दंतेवाड़ा 40.44%

87 सुकमा 37.79%

92.89% देश में पहले पर तेलंगाना का भूपालपल्ली

18.96% अंतिम स्थान पर यूपी का श्रावस्ती

आधारभूतसंरचना

रैंक जिला अंक

1 महासमुंद 89.97%

2 राजनांदगांव 85.84%

3 कोरबा 81.36%

18 कांकेर 66.22%

19 कोंडागांव 65.71%

30 बस्तर 62.65%

52 नारायणपुर 53.81%

55 दंतेवाड़ा 52.55%

67 बीजापुर 50.08%

86 सुकमा 43.32%

89.97% देश में पहले स्थान पर अपना महासमुंद

23.50% अंतिम पर अरुणाचल का नामसाई

प्रगति के हिसाब से मई में जारी की जाएगी डेल्टा रैंकिंग, जिलों में अफसरों को सौंपी जा रही योजनाएं संभालने की िजम्मेदारी

कृषि-जलसंसाधन

रैंक जिला अंक

7 राजनांदगांव 21.96%

16 महासमुंद 18.48%

50 कोरबा 12.23%

53 बस्तर 11.49%

54 कांकेर 11.31%

56 कोंडागांव 10.96%

63 बीजापुर 9.39%

67 नारायणपुर 8.91%

70 सुकमा 8.65%

78 दंतेवाड़ा 6.67%

46.91% देश में पहले स्थान पर आंध्र का विजयानगरम

1.64% अंतिम पर मणिपुर का चंदेल

आइए देखें हम कहां

बेसलाइन सर्वे के मुताबिक आधारभूत संरचना में हम सबसे आगे हैं। महासमुंद, राजनांदगांव व कोरबा ने शीर्ष तीन जिलों में जगह बनाई है, जबकि छह जिले शीर्ष 50 की पंक्ति में शामिल हैं। स्वास्थ्य सेवाओं में तो 8 जिले अग्रणी 50 की श्रेणी में हैं। कुल मिलाकर स्वास्थ्य का काम संतोषजनक है। वित्तीय समावेश में भी बेहतर स्थान हासिल करते हुए 8 जिले अग्रणी 50 का हिस्सा हैं, इनमें पांच जिलों ने टॉप 20 की रैंकिंग में जगह बनाई है।



यहां बेहतर काम की जरूरत : शिक्षा में सिर्फ 4 जिले ही 50 की लिस्ट में हैं, बाकी छह जिले पढ़ाई-लिखाई से दूर 51 से 101 की कतार में हैं । कृषि में तीन ही जिले 50 की रैंक में हैं। कौशल विकास में काम जरूर हो रहा, मगर नीति अायोग की रैंकिंग के अनुसार 5 जिले ही 50 की रैंकिंग से नीचे हैं।

स्रोत : नीति आयोग

आंध्र सरकार की साझेदारी से बना डैशबोर्ड रोज फीड होंगे आंकड़े, जारी होगी एमआईएस (मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम) रिपोर्ट

Get the latest IPL 2018 News, check IPL 2018 Schedule, IPL Live Score & IPL Points Table. Like us on Facebook or follow us on Twitter for more IPL updates.
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Korba News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: स्वास्थ्य और इंफ्रास्ट्रक्चर में देश में तीसरे नंबर पर कोरबा, कृषि में सुधार के लिए करना होगी कड़ी मेहनत, शिक्षा के क्षेत्र में भी पिछड़ा
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Korba

    Trending

    Live Hindi News

    0
    ×