• Home
  • Chhattisgarh News
  • Korba News
  • भू-विस्थापित मजदूरों का धरना स्थगित, एचटीपीपी में आंदोलन
--Advertisement--

भू-विस्थापित मजदूरों का धरना स्थगित, एचटीपीपी में आंदोलन

राज्य पावर कंपनी के भू-विस्थापितों के नियमितीकरण के मु़ददे व धरना प्रदर्शन को लेकर रविवार को एचटीपीपी में...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:45 AM IST
राज्य पावर कंपनी के भू-विस्थापितों के नियमितीकरण के मु़ददे व धरना प्रदर्शन को लेकर रविवार को एचटीपीपी में फेडरेशन इंटक 56 के पदाधिकारियों की बैठक हुई। जिसमें निर्णय लिया गया कि 2 अप्रैल को डीएसपीएम प्लांट गेट के समक्ष धरना को स्थगित कर अब 11 अप्रैल को एचटीपीपी में धरना दिया जाएगा।

डीएसपीएम, एचटीपीपी विस्तार व मड़वा परियोजना के भू-विस्थापितों को बिजली कंपनी ने जमीन के बदले नौकरी दी है। अधिकांश भू-विस्थापित गार्ड की नौकरी कर रहे हैं, तो कई प्लांट के अंदर अन्य कार्य में नियोजित हैं। इन भू-विस्थापित कामगारों को प्रबंधन ने अब तक नियमित नहीं किया है। जबकि कंपनी की सेवा करते हुए लगभग 7 वर्ष हो गए। फेडरेशन इंटक 56 ने नियमितीकरण की मांग लेकर लगातार पत्राचार किया था। आंदोलन का नोटिस भी दिया था। पूर्व में प्रबंधन के आश्वासन दिए जाने पर आंदोलन स्थगित कर दिया गया, लेकिन इसके बाद भी भू-विस्थापित कामगारों को नियमित नहीं किया गया। जिसे लेकर नाराजगी है, इस मुद्दे पर इंटक ने पिछले दिनों उत्पादन कंपनी के प्रबंध निदेशक को पत्र लिख कर कहा था कि प्रबंधन जानबूझकर टालमटोल की नीति अख्तियार कर रही है। भू-विस्थापितों को बार-बार दस्तावेज जमा करने के लिए दबाव डाला जा रहा है, जो ठीक नहीं है। भू-विस्थापितों को पहले दस्तावेज जमा किए जाने पर ही नौकरी प्रदान की गई है। जिला इंटक कौंसिल ने भू-विस्थापितों की मांगे 1 अप्रैल तक पूरा करने की मांग करते हुए चेतावनी दी थी कि ऐसा नहीं हाेने पर 2 अप्रैल को डीएसपीएम प्लांट के समक्ष एक दिवसीय धरना दिया जाएगा। जिसमें एचटीपीपी, मड़वा, एचटीपीएस, कोरबा पूर्व व डीएसपीएम में नियोिजत भू-विस्थापित कामगार, ठेका श्रमिक भी शामिल होंगे।

11 अप्रैल को एचटीपीपी में देंगे धरना