--Advertisement--

जबरन रंग डाला, छिंटाकशी व हंगामा किया तो खैर नहीं

होली पर्व को लेकर पुलिस ने जिले भर में पेट्रोलिंग व जांच तेज कर दी है। एक दिन पहले ही फ्लेग मार्च निकाल पुलिस ने...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:55 AM IST
होली पर्व को लेकर पुलिस ने जिले भर में पेट्रोलिंग व जांच तेज कर दी है। एक दिन पहले ही फ्लेग मार्च निकाल पुलिस ने अपनी मुस्तैदी का अहसास शहर वासियों को कराया।

होलिका दहन के पहले से शहर की सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी संख्या मंे चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात रहे। पेट्रोलिंग पाटियां भी गश्ती में लगी रही। शहर में तगड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच जगह-जगह होलिका दहन किया गया। शुक्रवार को भी पुलिस सक्रिय रहेगी। शहर के प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस ने सुरक्षा जवानों के साथ वाहनों की जांच शुरू कर दी थी। गुरुवार को शहर के साथ आऊटर, में दोपहर से पुलिस की पेट्रोलिंग चलती रही। पुलिस इस बार सख्ती के साथ होली में हुड़दंगियों पर कार्रवाई कर रही है। इसके लिए की शाम से ही शहरी-उपनगरीय क्षेत्र में वाहनों की जांच करते हुए मस्ती करने वालों की धरपकड़ शुरू कर दी गई है। आधी रात के बाद संदिग्ध मानकर घुमने वालों समेत होली में मुखौटा लगाने वालों को भी पकड़ा गया। किसी राहगीर पर छत से रंग, गुलाल फेंकने, अभद्र शब्दों का उपयोग,महिलाओं पर छिंटाकसी, हुज्जतबाजी, हंगामा व अपराध करने वालों की सूची तैयार कर बदमाशों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। होलिका दहन के दौरान शहर में शराब पीकर वाहन चलाने वाले, सामान्य हार्न की बजाय भद्दी व डरावनी हार्न लगाने वाले,डरावनी नकाब लगाकर घुमने, लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाने, तीन सवारी व सड़कों पर फर्राटे भरने वालों पर पुलिस की नजर रही।

बांगो बटालियन से भेजे गए 50 जवान, जिला बल भी एलर्ट

गुरुवार की दोपहर से होली पर्व के दिन शुक्रवार देर शाम तक पुलिस ऑन ड्यूटी रहेंगे। शहर समेत सभी थाना क्षेत्र में अतिरिक्त बल भेज दिया गया है। जहां पेट्रोलिंग पार्टी गठित करके उन्हें सुरक्षा व शांति व्यवस्था में लगाया गया है। सभी थाना-चौकी व पेट्रोलिंग पार्टियां सीधे कंट्रोल रूम से संपर्क में रहेगी। शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए बांगो से ही लगभग 50 की संख्या में बल तैनात किए गए हैं। इसके अलावा जिला पुलिस लाइन व थाना चौकियांे के जवान भी सुरक्षा के लिए मुश्तैद रहेंगे।

भास्कर संवाददाता |कोरबा

होली पर्व को लेकर पुलिस ने जिले भर में पेट्रोलिंग व जांच तेज कर दी है। एक दिन पहले ही फ्लेग मार्च निकाल पुलिस ने अपनी मुस्तैदी का अहसास शहर वासियों को कराया।

होलिका दहन के पहले से शहर की सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी संख्या मंे चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात रहे। पेट्रोलिंग पाटियां भी गश्ती में लगी रही। शहर में तगड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच जगह-जगह होलिका दहन किया गया। शुक्रवार को भी पुलिस सक्रिय रहेगी। शहर के प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस ने सुरक्षा जवानों के साथ वाहनों की जांच शुरू कर दी थी। गुरुवार को शहर के साथ आऊटर, में दोपहर से पुलिस की पेट्रोलिंग चलती रही। पुलिस इस बार सख्ती के साथ होली में हुड़दंगियों पर कार्रवाई कर रही है। इसके लिए की शाम से ही शहरी-उपनगरीय क्षेत्र में वाहनों की जांच करते हुए मस्ती करने वालों की धरपकड़ शुरू कर दी गई है। आधी रात के बाद संदिग्ध मानकर घुमने वालों समेत होली में मुखौटा लगाने वालों को भी पकड़ा गया। किसी राहगीर पर छत से रंग, गुलाल फेंकने, अभद्र शब्दों का उपयोग,महिलाओं पर छिंटाकसी, हुज्जतबाजी, हंगामा व अपराध करने वालों की सूची तैयार कर बदमाशों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। होलिका दहन के दौरान शहर में शराब पीकर वाहन चलाने वाले, सामान्य हार्न की बजाय भद्दी व डरावनी हार्न लगाने वाले,डरावनी नकाब लगाकर घुमने, लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाने, तीन सवारी व सड़कों पर फर्राटे भरने वालों पर पुलिस की नजर रही।

शराब दुकानों में भीड़, एक घंटा पहले किया बंद

होली के दिन शहर की सभी शराब दुकानों में भीड़ को संभालना मुश्किल रहा। पेट्रोलिंग पाटियों को शराब दुकानों के ओर लगातार गश्ती करनी पड़ी। शहर के बीच निहारिका, मुड़ापार, रामपुर, भदरापारा, राताखार सहित अन्य शराब दुकानों में शराब लेने वालों की भीड़ बेकाबू रही। प्रशासन ने पहले ही शराब दुकानों को एक घंटा पहले बंद करने निर्देश दिए थे। इसके तहत तय समय रात 10 बजे से एक घंटा पहले ही शराब दुकानों को बंद किया गया।

होली के लिए इमरजेंसी मेडिकल व्यवस्था

होली को लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने भी अपनी आपात तैयारी की है। जिला अस्पताल सहित अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में मरीजों के इलाज के लिए अतिरिक्त व्यवस्था की है। चिकित्सकों को भी एलर्ट तैयार रहने कहा है। होली में अधिकांश निजी अस्पताल बंद रहते हैं। त्योहार में कहीं कोई अप्रिय घटना या दुर्घटना के शिकार लोगों को ऐसे में इलाज के लिए परेशान न होना पड़े इसके लिए पांचो ब्लॉक के सरकारी अस्पतालों अापात चिकित्सा व्यवस्था की गई है। एंबुलेंस व्यवस्था को भी एलर्ट किया है। सीएमएचओ की ओर से जारी आदेश में कहा है कि मेडिकल अधिकारी 1 से 3 मार्च तक सतर्कता व सजगतापूर्ण दायित्व निर्वहन करेंगे। जिला प्रशासन ने पानी का फिजूल उपयोग रोकने, पर्यावरण को नुकसान न पहंुचाने, आॅयल, पेंट्स, ग्रीस व अन्य रसायनिक पदार्थ का उपयोग रंग-गुलाल के रूप न करने, जबरन किसी पर रंग नहीं लगाने कहा है।