Hindi News »Chhatisgarh »Korba» नेचुरल कलर बना खेलें सूखी होली, पानी बचेगा और त्वचा भी सुरक्षित: डॉ. सिद्दीकी

नेचुरल कलर बना खेलें सूखी होली, पानी बचेगा और त्वचा भी सुरक्षित: डॉ. सिद्दीकी

फाल्गुन मास के पूर्णिमा को मनाया जाने वाला होली त्यौहार का सभी को ब्रेसबी से इंतेजार रहता है। बच्चे हों या बूढ़े...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 02:55 AM IST

फाल्गुन मास के पूर्णिमा को मनाया जाने वाला होली त्यौहार का सभी को ब्रेसबी से इंतेजार रहता है। बच्चे हों या बूढ़े होली के दिन हर धर्म के लोग उत्साह के साथ इसे मनाते हैं। रंगों का यह पर्व भाईचारे का संदेश देते हंै। इस दिन सभी धर्म, सम्प्रदाय, जाति के लोग एक दूसरे को अबीर, गुलाल लगाकर खुशियों का इजहार करते हैं। लेकिन इस होली में आपकी खुशियां बरकरार रहे इसके लिए थोड़ी सावधानी भी बरतनी होगी। घर में नेचुरल कलर बनाकर सूखी होली खेलने से न केवल भविष्य के लिए पानी बचेगा वरन आपकी त्वचा भी सुरक्षित रहेगी।

ऐसा कहना है कि डॉ.आफताब सिद्दीकी का। सिद्दीकी स्किन क्लीनिक के संचालक डॉ. सिद्दीकी होली की खुशी लोगों में त्यौहार के बाद भी बनी रही इसके लिए घर व आसपास आसानी से मिलने वाली वस्तुओं से रंग तैयार कर उसका उपयोग करने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि बाजार में मिलने वाले केमिकल युक्त रंग शरीर के लिए नुकसान दायक हो सकता है। इन रंगों में मिलाए जाने वाले केमिकल काफी हानिकारक होते हैं। हरे रंग में कॉपर सल्फेट होता है जो आंखों के लिए बहुत ही खतरनाक है। इससे कई बार आंखों की रोशनी जाने का भी खतरा रहता है। सिल्वर कलर में एल्युमिनियम ब्रोमाइड होता है जो कैंसर का कारण बन सकता है। वही बच्चों का फेवरेट लाल रंग में मरकरी सल्फाइट होता है जो त्वचा के लिए नुकसानदेह है। इनके अलावा कई रंग में क्रोमियम आयोडाइड होता है जो एलर्जी व दमा के रोगी के लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है।

घर में कैसे तैयार करें हर्बल कलर

हरा गुलाल : गुलमोहर, पालक, नीम की पत्ती को सुखाकर पीस लें या मेहंदी के घोल में आंटा या बेसन मिलाकर सुखा लें। सूखी मेहंदी को बेसन या आटे में मिला लें और उसका उपयोग करें।

गुलाबी गुलाल : चुकुन्दर को उबाल लें और रातभर रहने दें। अगले दिन इसमें पानी मिला लें या सूखी होली के लिए आटा या बेसन मिला कर गुलाल बना सकते हैं।

काला गुलाल : आंवला को उबाल लें और ठंडा होने के बाद पीस लें। इससे ब्लैक हर्बल कलर का घोल मिलेगा। काला अंगूर भी मिला सकते हैं।

पीला गुलाल: हल्दी पाउडर को बेसन या आटे में मिला कर पीला गुलाल बना लें। गेंदा फूल को सुखाकर पीसने से पीला गुलाल तैयार हो जाएगा।

बचाव के लिए ये कर सकते हैं

फुलपेंट व पूरी बाहीं का कपड़ा पहनें।,सिर में टोपी व बालों को खुला रखने के बजाय बांध लें।, नाखून में गाढ़ा नेल पालिश व बालों में तेल लगा सकते हैं।,पानी अधिक पीएं ताकि टाक्सीन पसीने के माध्यम से बाहर निकल जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Korba News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: नेचुरल कलर बना खेलें सूखी होली, पानी बचेगा और त्वचा भी सुरक्षित: डॉ. सिद्दीकी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Korba

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×