Hindi News »Chhatisgarh »Korba» मंहगाई और श्रम कानूनों में बदलाव के खिलाफ ट्रेड यूनियनों ने किया प्रदर्शन

मंहगाई और श्रम कानूनों में बदलाव के खिलाफ ट्रेड यूनियनों ने किया प्रदर्शन

केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने राष्ट्रीय स्तर पर सत्याग्रह व प्रदर्शन किया। इसी कड़ी में बुधवार की शाम ट्रांसपोर्ट...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:00 AM IST

केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने राष्ट्रीय स्तर पर सत्याग्रह व प्रदर्शन किया। इसी कड़ी में बुधवार की शाम ट्रांसपोर्ट नगर चौक पर भी बढ़ती मंहगाई,श्रम कानूनों मे संशोधन के खिलाफ जिले के ट्रेड यूनियन नेताओं ने आवाज बुलंद किया और केंद्र सरकार पर जन ,मजदूर विरोधी व राष्ट्र विरोधी नीतियां लागू करने का आरोप लगाया।

इसके अलावा 18000 रुपए न्यूनतम वेतन ,सामाजिक सूरक्षा,सार्वजनिक उद्योगों के नीजिकरण, रेल व सुरक्षा मे प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के खिलाफ, ठेका मजदूरों को समान काम समान वेतन, सभी को 3 हजार रूपए न्यूनतम पेंशन, ठेका प्रथा समाप्त करने,श्रम कानूनों को सख्ती से लागू करने,कर मुक्त 20 लाख ग्रेच्युटी,बेरोजगारी सहित 12 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। भारतीय खान मजदूर फेडरेशन के राष्ट्रीय सचिव दीपेश मिश्रा ने कहा कि सरकार के 44 माह के कार्यकाल मे देश की आम जनता बढ़ती मंहगाई से जूझ रही है। युवा रोजगार के लिए भटक रहे हैं। किसान जान दे रहे, सार्वजनिक उपक्रमों को कौड़ियों के मोल बेचा जा रहा है। कोयला खदानों को निजी हाथों में सौंपने की तैयारी चल रही है। जिसका श्रमिक संगठन विरोध कर रहे हैं। यूनियन नेताओं ने कहा कि अभी सांकेतिक तौर पर विरोध प्रदर्शन कर रहें है। आने वाले समय में सरकार नहीं जागी तो पूरे देश मे आंदोलन को तेज किया जाएगा। जरूरत पड़ने पर अनिश्चित कालीन हड़ताल का एेलान किया जाएगा। एटक महासचिव हरिनाथ सिंह ने कहा कि सरकार उद्योग घरानों के इशारे पर काम कर रही है। मजदूर विरोधी नीति अपनाई जा रही है। सभी श्रमिक संगठन संयुक्त रूप से इसका विरोध करेंगे। इस दौरान एमएल.रजक, अशोक पांडे, केपी शर्मा, अघरिया, मदन सिंह,सूभाष दास, सीके सिन्हा, सीएम तिवारी, बी धरमा राव,प्रमोद सिंह, सदाफ,तिवारी, दीवान,चौबे, कोसीर साहू, रेवत मिश्र,सिदाम दास, सुभाष सिंह, एसके प्रसाद, सुबोध सागर, राजेश पांडे,एनके दास, एनके साव आदि मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Korba

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×