--Advertisement--

फर्जी सर्टिफिकेट बनाने वाले लिपिक को 12 साल बाद सजा

कोरबा| तहसील कार्यालय में पदस्थ लिपिक भागीरथी ध्रुव निवासी पीडब्ल्यूडी काॅलोनी ने 12 साल पहले वर्ष 2005 में तत्कालीन...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:05 AM IST
कोरबा| तहसील कार्यालय में पदस्थ लिपिक भागीरथी ध्रुव निवासी पीडब्ल्यूडी काॅलोनी ने 12 साल पहले वर्ष 2005 में तत्कालीन नायब तहसीलदार आरके तंबोली का फर्जी हस्ताक्षर करके सील लगाते हुए जाति, निवास व आय के कई फर्जी प्रमाण पत्र तैयार किए थे। नायब तहसीलदार तंबोली को दस्तावेजों के अवलोकन के दौरान कुछ प्रमाण पत्र पर उनके फर्जी हस्ताक्षर दिखे। उन्होंने जांच की तो एेसे 28 प्रकरण मिले। जिसे लिपिक भागीरथी ने जारी किया था। उन्होंने रामपुर चौकी पुलिस को सूचना दी। मामले में पुलिस ने प्राथी की रिपोर्ट पर लिपिक भागीरथी के खिलाफ धारा 420, 467, 471 भादवि का जुर्म दर्ज किया था। मामले में 28 अप्रैल 2005 को आरोपी लिपिक भागीरथी की गिरफ्तारी की गई थी। जिसे कुछ दिनांे बाद जमानत मिल गया था। तब से मामला कोर्ट में विचाराधीन था। 12 साल बाद मामले की सुनवाई मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट उर्मिला गुप्ता के कोर्ट में पूर्ण हुई। जिसमें आरोपी लिपिक के खिलाफ दोष सिद्ध हो गया।

भागीरथी

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..